चारा घो’टाले में स’ज़ायाफ्ता लालू यादव ने झारखंड हाईकोर्ट से मांगी जमा’नत

RANCHI : बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राजद सुप्रीमो लालू यादव ने झारखंड उच्च न्यायालय से चारा घो’टाले में जमा’नत की गुहार लगाई है। उच्‍च न्‍यायालय में लालू ने याचिका दाखिल कर दुमका कोषागार मामले में जमा’नत देने की मांग की है। अभी लालू यादव का रिम्स में इलाज चल रहा है और वहीं वो अपनी स’जा भी का’ट रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि इससे पहले झारखंड हाई कोर्ट ने जुलाई माह पूर्व उन्‍हें देवघर कोषागार मामले में जमा’नत दी थी। तब इस मामले में आधी सजा काटने के सुप्रीम कोर्ट के एक फैसले के हवाले से हाई कोर्ट से जमा’नत की मांग की गई थी। इधर दुमका मामले में लालू प्रसाद को 7 साल की सजा सुनाई गई है। बता दें कि लालू की सेहत को लेकर डॉक्‍टरों का कहना है कि उन्‍हें रोज 85 मिलीग्राम तक इंसुलिन की डोज दी जाती है। उनकी किडनी 60 फीसद तक काम कर रही है।

लालू यादव को झारखंड उच्च न्यायालय से चारा घोटाले के एक मामले में ज़मा’नत मिल गयी थी। इस ज़मानत के बावजूद लालू यादव को फिलहाल जे’ल में ही रहना पड़ा क्योंकि वो अन्य कई मामलों में स’ज़ायाफ्ता हैं। लालू को ये ज़मा’नत न्यायाधीश अपरेश कुमार सिंह की पीठ ने दी थी। अदालत ने उन्हें आधी स’जा पूरी कर लेने के आधार पर ये ज़मा’नत दी थी। गौरतलब है कि लालू यादव ने कई बार कोर्ट में जमा’नत याचिका दाखिल की थी। पहले भी रांची हाई कोर्ट से लालू यादव की जमा’नत याचिका खारिज हो चुकी थी। रांची हाई कोर्ट ने उनके अप’राधों को गं’भीर अप’राध बताते हुए उनके दलीलों को खारिज कर दिया था। जिसके बाद लालू यादव ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। वहां भी लालू यादव को निराशा ही हाथ लगी थी। 23 दिसम्बर 2017 से लालू यादव जे’ल में हैं।