मतभेदों के बीच एक मंच पर दिखे महागठबंधन के नेता, तेजस्वी ने मांगा नीतीश का इस्तीफा

PATNA : बिहार में महागठबंधन के नेता एक मंच पर दिखे। ये मौका था राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि का। बिहार में इस समय उपचुनावों का प्रचार चल रहा है और 21 तारीख को वोट डाले जायेंगे। साथ ही तेजस्वी यादव ने महागठबंधन के सभी नेताओं को ईगो छोड़ने की नसीहत भी दी।

तेजस्वी  ने मंच से महागठबंधन के नेताओं को संदेश देते हुए कहा कि सबको ईगो छोड़कर साथ आना चाहिए, तभी हम इस एनडीए का मुकाबला कर पाएंगे। इस तरह के बिखराव का विरो’धी फायदा उठाएंगे और हमारी कमजोरी आने वाले समय में सबके लिए घात’क साबित होगी।

 

पटना में जलजमाव के मामले पर तेजस्वी ने नीतीश कुमार को घेरा और नैतिकता के आधार पर नीतीश  कुमार के इस्तीफे की मांग की। उन्होंने पूछा कि मुख्यमंत्री    से पूछिए उनका 15 साल का विकास कहां है रालोसपा अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने इस मौके पर कहा कि अगर इस लड़ाई में मुझे विष भी पीना पड़े तो मैं पी लूंगा पर लोगों तक अमृत पहुंचाऊंगा। आपको बता दें कि उपचुनावों में सीट बंटवारे को लेकर महागठबंधन के सभी दल एक दूसरे पर हमलावर थे। जीतनराम मांझी ने तेजस्वी यादव पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा था कि राजद और NDA के बीच साठ-गांठ है। तेजस्वी यादव NDA को उप चुनावों में जितवाना चाहते हैं।

बता दें बिहार में एक लोकसभा और पांच विधानसभा सीटों के लिए होने वाले उपचुनाव की तारीखों का एलान हो चुका है।समस्तीपुर लोकसभा सीट और पांच विधानसभा सीट पर 21 अक्टूबर को उपचुनाव कराए जाएंगे। कार्यक्रम में  तेजस्वी यादव, हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के अध्यक्ष जीतनराम मांझी, रालोसपा के उपेंद्र कुशवाहा और वीआइपी के अध्यक्ष मुकेश सहनी एक साथ एक मंच पर साथ दिखे।