बिहार के लीची पर इंटरनेशनल सेमीनार ,वियतनाम में जुटेगे कई देशों के दिग्गज

PATNA: बिहार के लीची पर इंटरनेशनल सेमीनार सही सुना आपने ऐसा ही होने वाला है | हम उस लीची कि  बात कर रहे है जिसके कारण बिहार का मुजफ्फरपुर जिला काफी फेमस है और लोग उसे लीची वाले देश के नाम से जानते है | हम उसी लीची कि बात  कर रहे है  जिसके नाम को सुनकर मुंह में पानी आ जाता है |

बिहार के लीची के ऊपर एक सेमीनार : जी हां बिहार के इस लीची के ऊपर एक सेमीनार होने जा रहा है | इस सेमीनार का आयोजन अगले वर्ष 2019 के अप्रैल महीने में होने वाला है और आयोजन कि जगह होगी वियतनाम | आयोजन कि जिम्मेदारी होगी होर्टी कल्चर साइंस ऑफ़ हंगरी के पास | इस आयोजन का मुख्य उदेश्य लीची के विकास और बाज़ार के लिए नए आयाम तलाशने कि जरुरत पर बल दिए जाने के नए आयामों को तलाशना | इस सम्मलेन में भारत , चीन , भूटान , थाईलैंड , आस्ट्रेलिया , वियतनाम , अमेरिका , दक्षिण अप्रीका भाग ले रहे है और भी लीची उत्पादक देश इस सम्मलेन में भाग ले रहे है | आपको बताते चले कि इस तरह का सम्मलेन विश्व में पहली बार नहीं हो रहा है इससे पहले भी पांच बार लीची के उत्पादन को बढाने  के लिए इस तरह के सम्मलेन का आयोजन किया जा चूका है | सबसे पहले लीची सेमीनार का आयोजन  भागलपुर कृषि विश्वविधालय में हुआ था |

पटना

पहला लीची बैंक मुजफ्फरपुर में : आपको बताते चले कि देश का पहला लीची बैंक मुजफ्फरपुर में ही स्थित है। यह बैंक राष्ट्रीय लीची अनुसंधान केंद्र परिसर में चल रहा है। इस बैंक में बिहार और अन्य राज्यों के बागों से खास तरह के पौधे लाकर शोध किया जाता है। बैंक में अब तक उत्तराखंड, पश्चिम बंगाल, असम, महाराष्ट्र, पंजाब के साथ बिहार के विभिन्न जिलों से खास पौधे मंगाए गए हैं सबको सुरक्षित रखकर शोध चल रहा है। 67 वैरायटी अब तक यहां जमा है इन वैरायटी की खासियत है कि किसी में सामान्य फल से ज्यादा गूदा है तो किसी में बीज का आकार सामान्य से बहुत कम है कुछ की मिठास लाजवाब है।

The post बिहार के लीची पर इंटरनेशनल सेमीनार ,वियतनाम में जुटेगे कई देशों के दिग्गज appeared first on Mai Bihari.