लोजपा ने विधानसभा की 42 सीटों पर ठोका दावा

विधानसभा चुनाव 2020 में लोजपा ने 42 सीटों पर अपना दावा ठोका है। पार्टी के सांसद एवं दलित सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस ने कहा कि पार्टी के सांसदों की संख्या के आधार पर विधानसभा की सीटें तय होनी चाहिए। पिछले विधानसभा चुनाव में भी इसी अधार पर सीट बंटवारा हुआ था। अभी लोजपा (छह लोक सभा और एक राज्यसभा) के सात सांसद हैं, लिहाजा 42 सीटों पर हमारी दावेदारी बनती है।

पार्टी की बैठक के बाद पत्रकारों के सवालों के जवाब में श्री पारस ने कहा कि लोकसभा चुनाव के समय ही यह तय हो गया था कि इसी आधार पर विधानसभा में सीटों का बंटवारा होगा। उस समय भाजपा और जदयू को बराबर सीटें दी गईं और लोजपा को छह सीटें और राज्यसभा की एक सीट मिली थी। इसी लिहाज से उनकी पार्टी का दावा 42 सीटों पर बनता है।

उनका स्ट्राइक रेट सौ प्रतिशत रहा है। पिछली बार एक सीट पर हम लोकसभा चुनाव हार गए थे। उसी हिसाब से विधानसभा चुनाव में सीटें मिली थीं। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि ना तो प्रशांत किशोर के फॉर्मूले का कोई मतलब है और ना ही भाजपा के नेता संजय पासवान की बातें अधिकृत हैं। इन दोनों नेताओं के कुछ कहने का अर्थ नहीं है। जदयू और भाजपा में शीर्ष नेता जो बोलेंगे, वहीं मायने रखता है।