सुपौल को लेकर महागठबंधन में महाभारत, राजद-कांग्रेस आमने-सामने, 2 को नामांकन करेंगी रंजीत रंजन

PATNA : सुपौल संसदीय क्षेत्र के लिए लोकसभा चुनाव का नामांकन गुरुवार से आरंभ हो जाएगा। 23 अप्रैल को तीसरे चरण के चुनाव में यहां वोट डाले जाएंगे। नामांकन प्रक्रिया शुरू होने में अब केवल बुधवार का दिन शेष रह गया है। ताजा राजनीतिक हालात के बीच अब यह बात खुलकर सामने आई कि सांसद रंजीत रंजन दो अप्रैल को सुपौल लोकसभा सीट से नामांकन करेंगी। उधर, महागठबंधन खेमे में मची उठापटक से राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गई है।

ताजा राजनीतिक हालात में इस सीट पर अब महागठबंधन के ही दो प्रमुख दल राजद और कांग्रेस आमने-सामने होते दिख रहे हैं। सीट पर उम्मीदवारी को लेकर रार और तकरार तेज हो गई है। हालांकि एनडीए खेमे की भी परेशानी यह है कि उसके एक बड़े नेता के पाला बदलने की चर्चा जोरों पर है। चर्चा है कि एनडीए के इस बागी नेता को राजद की टिकट पर चुनाव मैदान में उतारा जा सकता है। फिलहाल सुपौल संसदीय क्षेत्र कांग्रेस के खाते में है और रंजीत रंजन वर्तमान सांसद हैं। लेकिन बीते एक माह से ही सांकेतिक तौर पर सांसद का विरोध कर रही राजद बीते 72 घंटों में मुखर हो चुकी है।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives, Live Bihar, Live India

राजद स्पष्ट कर चुका है कि किसी भी परिस्थिति में सुपौल से रंजीत रंजन की उम्मीदवारी को पार्टी स्वीकार नहीं करेगा और उनकी उम्मीदवारी घोषित होने पर राजद सुपौल से अपना उम्मीदवार देगी। स्वयं राजद जिलाध्यक्ष सह पिपरा विधायक यदुवंश कुमार यादव ने रंजीत रंजन के विरुद्ध मोर्चा खोल रखा है। मंगलवार को कांग्रेस की जिला इकाई ने भी स्पष्ट कर दिया है कि वह किसी भी परिस्थिति में सुपौल सीट पर कोई समझौता नहीं करेगी। कांग्रेस जिलाध्यक्ष प्रो. विमल कुमार यादव ने स्पष्ट किया है कि बताया कि 2 अप्रैल को सांसद रंजीत रंजन सुपौल से कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में अपना नामांकन दाखिल करेंगी।

सुपौल सीट को लेकर राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव व तेजस्वी यादव का कोई बयान नहीं आया है। अगर किसी नेता को महागठबंधन के फैसले से ऐतराज है तो वह अपने पार्टी के आलाकमान को शिकायत कर सकता है। गठबंधन का फैसला सभी दलों के शीर्ष नेतृत्व के बीच हुआ है और जिसे यह पसंद नहीं, वह पार्टी और गठबंधन से इस्तीफा देने के बाद इस प्रकार से विरोध कर सकता है। मंगलवार को पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक भी बुलाई गई है। प्रो. विमल कुमार यादव, कांग्रेस जिलाध्यक्ष