महबूब अली कैसर बने खगड़िया से एनडीए के उम्मीदवार, होगी सीट बचाए रखने की चुनौती

PATNA : लम्बे इंतज़ार और सस्पेंस के बाद आखिरकार लोक जनशक्ति पार्टी ने खगड़िया लोकसभा सीट के लिए उम्मीदवार की घोषणा कर दी। खगड़िया के सिटिंग सांसद महबूब अली कैसर (Mahboob Ali Kaisar) को एक बार फिर से उम्मीदवार बनाया गया है। जिस दिन एनडीए ने उम्मीदवारों की घोषणा की थी उसदिन खगड़िया सीट के उम्मीदवार की घोषणा नहीं की गई तो ऐसा अंदाजा लगाया गया था कि सिटिंग सांसद महबूब अली कैसर का पत्ता कर गया। पार्टी अध्यक्ष रामविलास पासवान ने भी कहा था कि खगड़िया पर कई दावेदार होने के कारण घोषणा करने में वक़्त लग रहा है लेकिन महबूब अली कैसर की दावेदारी साभी दावेदारों पर भारी पड़ी। 

खगड़िया पर उम्मीदवार की घोषणा से पहले सोमवार को लोजपा पार्लियामेंट्री बोर्ड की बैठक हुई जिसमे महबूब अली कैसर भी शामिल हुए थे। गहन विचार विमर्श और मंथन के बाद उनके नाम पर सहमती बनी। महबूब अली कैसर के नाम की घोषणा प्रेस कांफ्रेंस में रामविलास पासवान ने की। उन्होंने कहा कि “हमने खगड़िया से एक बार फिर महबूब अली कैसर को उम्मीदवार बनाया है। वो एक बार फिर चुनाव जीतेंगे। उन्होंने कहा कि बिहार के सभी 40 सीटों पर एनडीए के उम्मीवारों की जीत होगी।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives Live Bihar, Live Bihar, Live India

खगड़िया लोकसभा सीट के इतिहास पर नज़र डालें तो 1989,91 और 1996 में जनता दल के कब्जे में ये सीट रही। जनता दल, जनता दल यूनाईटेड बन गई लेकिन फिर भी 1999 में इस सीट पर कब्ज़ा बरकरार रखा। 2004 में राष्ट्रीय जनता दल के पास रही ये सीट लेकिन 2009 में एक बार फिर जेडीयू ने इस पर कब्ज़ा कर लिया। 2014 में लोजपा के टिकट पर महबूब अली कैसर ने जीत दर्ज की। एक बार फिर महबूब अली कैसर उम्मीदवार हैं और उनके सामने अपनी सीट बचाए रखने की चुनौती है। 2014 के मोदी लहर में लोजपा, एनडीए का हिस्सा थी और महबूब अली कैसर को 35.01 प्रतिशत मत मिले थे जबकि राजद के कृष्णा यादव को 26.53 प्रतिशत वोट मिले थे।