डेनमार्क की दही से बिहार में मनेगी मकर संक्रांति, सुधा ने की विशेष तैयारी

PATNA: मकर संक्रांति के अवसर पर इस साल बिहार को डेनमार्क के जोरन से बनी दही खाने का मौका मिलेगा। सुधा डेयरी प्रोजेक्ट ने राजधानी पटना समेत आस पास के इलाकों में दूध और दही का विशेष प्रबंधन किया है। इसके लिए डेनमार्क से दही बनाने के लिए जोरन भी मंगवाए गए हैं। आपको बता दें की डेनमार्क दूध उत्पादन करने वाला विश्व का सबसे बड़ा देश है। वहीँ भारत के पास विश्व में सबसे ज़्यादा दूधारू पशु है।

सुधा डेयरी ने पटना के लोगों के लिए 33 लाख लीटर दूध और 4 लाख किलो दही सप्लाई का लक्ष्य निर्धारित किया है। मकर संक्रांति पर दही खाने का विशेष महत्व होता है। सुधा डेयरी ने मकर संक्रांति को लेकर कमर कास ली है और आपूर्ति में किसी भी तरह की कमी न हो इसके लिए, सुधा के पटना डेयरी प्रोजेक्ट के कर्मचारियों सहित प्रबंध निदेशक सुधीर कुमार ने मोर्चा संभाल लिया है। फुलवारीशरीफ स्थित पटना डेयरी प्रोजेक्ट में पर्व के मौके पर शहर में दूध और दही के लिए सभी तरह की तैयारी पूरी कर ली गयी है।

प्रोजेक्ट के एमडी सुधीर कुमार सिंह ने बताया की, इस साल शहर में दूध और उसके उत्पादों की कोई कमी नहीं होने दी जाएगी, इसके लिए 33 लाख लीटर दूध व 4 लाख किलो दही के सप्लाई का लक्ष्य रखा गया है। मकर संक्राति के मौके पर दही के 80 ग्राम से लेकर 16 किलो के जार उपलब्ध होंगे।

सुधीर कुमार ने कहा की, मकर संक्रांति में दूध दही की कोई कमी ना हो, इसके लिए पटना डेयरी में एक महीने पहले से तैयारी चल रही थी। शहर में मकर संक्राति पर 2600 बूथ और 122 मिल्क पार्लर पर दूध दही उपलब्ध करने का विशेष प्रबंध किया है। डेयरी प्रबंधन के अनुसार डेनमार्क के जोरन से तैयार दही सुपाच्य होती है और इसमें खट्टापन बिलकुल भी नहीं होता है। उम्मीद की जा रही है की लोगों को सुधा का यह दही पसंद आएगा।

The post डेनमार्क की दही से बिहार में मनेगी मकर संक्रांति, सुधा ने की विशेष तैयारी appeared first on Mai Bihari.