टूट गयी महास्वार्थ बंधन की साझेदारी, हाथी ने छोड़ दी साइकिल की सवारी- मंगल पांडेय

PATNA: लोकसभा चुनाव के चलते उत्तर-प्रदेश में समाजवादी और बहुजन समाज पार्टी के बीच हुए गठबंधन के टूटने की खबरों ने जोर पकड़ लिया है। बसपा सुप्रीमो मायावती ने सोमवार को मीडिया से बात कर कहा कि वह यूपी की 11 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव में अकेले ही चुनाव लड़ेगी। सपा-बसपा गठबंधन को अब बिहार बीजेपी के बड़े नेता मंगल पांडेय ने भी तंज कसा है।

मंगल पांडेय ने ट्वीट कर लिखा है कि टूट गयी महास्वार्थबंधन की साझेदारी, हाथी ने छोड़ दी साइकिल की सवारी। ये तो होना ही था। बता दें कि इससे पहले बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने भी सपा-बसपा गठबंधन को लेकर तंंज कसा।

सुशील मोदी ने ट्वीट कर लिखा है कि लोकसभा चुनाव में हार के बाद बुआ मायावती ने बबुआ अखिलेश की पार्टी से गठबंधन तोड़ने का एलान कर साबित कर दिया कि उनका रिश्ता किसी विचारधारा पर नहीं, बल्कि भाजपा-विरोध की कोरी नकारात्मकता पर टिका था। परिवारवादी दलों के ऐसे अवसरवादी गठबंधनों को नकार कर जनता ने जिस बुद्धिमत्ता का परिचय दिया उसे शत-शत नमन।

बता दें कि मंगलवार को बसपा सुप्रीमो मायावती ने उत्तर-प्रदेश में होने वाले उपचुनावों के लिए अकेले ही मैदान में उतरने की बात कही। वहीँ मायावती ने अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि अखिलेश यादव अपनी पत्नी डिंपल यादव को भी नहीं जिता पाए। इसके पीछे उन्होंने कारण बताते हुए कहा कि अखिलेश यादव यादवों का वोट अपनी ओर नहीं कर पाए वहीँ बसपा के वोटरों ने सपा का पूरा समर्थन किया।

लोकसभा चुनाव में बहुजन समाज पार्टी के खाते में 10 सीटें आईं तो वहीँ समाजवादी पार्टी को इस बार बहुत बड़ा झटका लगा। सपा के खाते में मात्र 5 सीटें ही आईं। उसमें भी सपा परिवार की तीन सीटों पर हार मिली।