बाढ़ पीड़ितों के लिए देवदूत बनकर पहुंचे मनोज दीन, सैकड़ों लोगों को खिलाया खाना

PATNA: बिहार में प्रत्येक वर्ष की तरह इस बार भी बाढ़ का प्रकोप देखने को मिल रहा है। बाढ़ के चलते ग्रामीण लोगों में भय का माहौल बन गया है। वहीँ कुछ गाँव तो ऐसे हैं जहाँ से लोगों को अपने घरों को छोड़ना पड़ रहा है। राज्य में बाढ़ की स्थिति को देखते हुए बोकारो से मनोज दीन लोगों की मदद के लिए सुपौल आए हैं।

मनोज दीन लोगों के लिए किसी देवदूत की तरह बनकर आए। उन्होंने सैकड़ों लोगों के लिए खाना खिलाया। मनोज दीन लोगों के बीच रीयल हीरो बन गए हैं। उन्होंने अपना काम-काज छोड़कर लोगों की मदद का फैसला किया। जब मनोज को पता चला कि सुपौल में लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है तो उन्होंने बोकारो से ट्रैन पकड़ी और लोगों की मदद के लिए सुपौल चले आए।

मनोज ने बाढ़ पीड़ितों के लिए अपने हाथों से खिचड़ी बनाकर खिलाई। मनोज दीन ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि वह लोगों की मदद के लिए असम जाने वाले थे लेकिन जब उन्हें पता चला कि सुपौल में बाढ़ के चलते लोगों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है तो उन्हने सुपौल आने का प्लान बनाया। वहीँ उन्होंने कहा यहाँ से वह असम जाएंगे।

बता दें बारिश के चलते कोसी नदी का जलस्तर लगातार बढ़ता ही जा रहा है। जिससे आस-पास के लोगों डर का माहौल पैदा हो गया है। पिछले वर्षों की भांति ही इस वर्ष भी जुलाई के महीने में ही कोसी का जलस्तर एक बार फिर से उफान पर है। इतना ही नहीं लगातार बारिश से पड़ोसी देश नेपाल से निकलने वाली बहुत से नदियों में भी जलस्तर काफी बढ़ गया है। जिसके चलते अररिया जिले के 4 प्रखंड बाढ़ से प्रभावित हो गए हैं।