मोदी की प्रेस-कान्फ्रेंस पर मनोज झा का तंज, कहा- भूतपूर्व होने से पहले जनता से मांग लेते माफी

राष्ट्रीय जनता दल के प्रवक्ता मनोज कुमार झा ने ट्वीट के जरिये, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि आपसे आशा थी कि आप भूतपूर्व प्रधानमंत्री होने से पहले, हाल ही हुए अभूतपूर्व प्रेसवार्ता में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी (बापू) के कातिल नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताने वाली आपकी प्रत्याशी Pragya Thakur के बयान पर, आप मुल्क से सार्वजनिक माफी मांगेंगे, लेकिन आप फिर छोटे ही निकलें।

एक दूसरे ट्वीट में उन्होंने कहा कि आदरणीय Narendra modi jee, 130 करोड़ हिंदुस्तानी नम आंखों से आपसे कहना चाहते हैं कि पांच वर्षों में इस मुल्क में हमारे बापू के कातिल को महिमा मंडन करने वालों की एक फौज खड़ी कर दी।

आपको बता दें कि हाल में प्रधानमंत्री मोदी ने प्रत्रकारों के साथ प्रेस-वार्ता की लेकिन वे प्रत्रकारों के प्रश्नों का उत्तर नहीं दिये और ना ही प्रज्ञा के बयान पर कोई प्रतिक्रिया दी।

ऐसे क्या बोली प्रज्ञा-

प्रज्ञा का यह बयान उस समय आया जब उनसे कमल हासन ने गोडसे को पहला हिंदू आतंकी बताया। इसी पर जब Pragya से प्रतिक्रिया मांगी गई, तो उसने कहा कि नाथूराम गोडसे देशभक्त थे। देशभक्त हैं और देशभक्त रहेंगे। उन्हें हिंदू आतंकवादी बताने वाले अपने गिरेबान में झांककर देखें। प्रज्ञा भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) की भोपाल से लोकसभा चुनाव 2019 के उम्मीदवार है।

हालांकि प्रज्ञा ने इस बयान पर माफी मांगते हुए कहा कि अगर बयान से किसी की भावनाएं आहत हुई है, तो मैं उसके लिए माफी मांगती हूं। गांधीजी ने जो देश के लिए किया, उसे भुलाया नहीं जा सकता। यह मेरी निजी राय थी। मेरा इरादा किसी की भावनाएं भड़काने का नहीं था। मेरे बयान को मीडिया ने तोड़-मरोड़कर पेश किया है।

प्रज्ञा पहले भी अपने बयानों से भाजपा को मुश्किल में डाल चुकी है। प्रज्ञा ने कहा था कि हेमंत करकरे को संन्यासियों का श्राप लगा और मेरे जेल जाने के करीब 45 दिन बाद ही वह 26/11 के मुंबई आतंकी हमले का शिकार हो गए।

आखिर क्या कहा था कमल हासन-

Tamilnadu में चुनाव प्रचार करते हुए हासन ने कहा था कि आजाद भारत का पहला आतंकवादी एक हिंदू ही था और उसका नाम नाथूराम गोडसे था। मैं यह इसलिए नहीं कह रहा हूं क्योंकि यहां पर अधिकांश मुस्लिम मौजूद हैं। मैं Mahatma Gandhi की मूर्ति के सामने खड़ा होकर यह कह रहा हूं।