इंसानियत हुई शर्मशार, नवादा में आ’क्रोशित भीड़ ने पी’ट-पी’टकर की युवक की ह’त्या

PATNA: बिहार में Mob lynching के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। नवादा से मॉब लिंचिंग के चलते एक बार फिर से इंसानियत शर्मशार हुई है। शनिवार को नवादा में आक्रोशित भीड़ ने एक युवक की बेरहमी से पीट-पीटकर हत्या कर दी। Nawada में मॉब लिंचिंग का एक सप्ताह में यह दूसरा मामला है।

इस मामले को लेकर बताया जा रहा है कि शुक्रवार की शाम नबदू अपने घर के पास टहल रहा था। उसी दौरान सड़क किनारे ताड़ी बेच रहे अवध चौधरी के पजौना (लोहे के हथियार पर शान चढ़ाने वाला पत्थर) से उसका पैर टकरा गया। इससे गुस्साए अवध पजौना से ही उसे मारने लगा। नबदू ने विरोध किया, तो शोर सुनकर नीतीश चौधरी, विमला देवी, श्री चौधरी, अनिल चौधरी, छत्तीस चौधरी के साथ उसके जानने वाले वहां पहुंच गए और नबदू को जमकर पीटा।

बता दें अवध चौधरी और उसेक साथ वालों नबदू को इतना पीटा कि वह बेसुध होकर नीचे गिर गया। जिसके बाद नबदू को परिजन शेखपुरा स्थित सदर अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृ’त घोषित कर दिया। मामले की जानकारी मिलते ही शनिवार को पहुंची पुलिस ने श’व का पो’स्टमार्टम कराया। मीडिया से बात करते हुए इस घटना के बारे में थानाध्यक्ष राजीव कुमार पटेल ने कहा कि प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है।

बता दें कि नवादा में मंगलवार को डायन बताकर एक महिला की लाठी-डंडे से पी’ट-पी’टकर मौ’त के घाट उतार दिया गया। महिला को चा’कू से भी गो’दा गया था। गांव के ही कुछ लोगों ने इस वारदात को अंजाम दिया। वारदात को अंजाम देने वाले द’बंग महिला को ढ़ाई साल की एक बच्‍ची की मौ’त के लिए जिम्‍मेदार बता रहे थे। वे महिला पर बच्‍ची को जिंदा करने का दबाव डाल रहे थे। ऐसा नहीं कर पाने पर दबंगों ने महिला को सरेआम पी’ट-पी’टकर मा’र डाला।