सफलता का परचम: बिहार की मोना दास अमेरिका में बनीं डेमोक्रेटिक पार्टी की सीनेटर

बिहार की मोना दास (Mona Das)ने सात समंदर पार अमेरिका में अपनी काबलियत का परचम लहराया है। बिहार के मुंगेर जिले की बेटी मोना दरअसल अमेरिका में सीनेट(Senate) की सदस्य निर्वाचित की गई है। मोना डेमोक्रेटिक पार्टी से सीनेट(Senate) चुनी गई है। खास बात यह है कि पहले प्रयास में ही मोना सीनेट के रुप में निर्वाचित हो गईं और उसने आठ साल से जीत रहे शख्श को हराया है। बता दें कि 14 जनवरी को मोना ओलंपिया में पद और गोपनीयता की शपथ लेंगी।

हालांकि मोना अब अमेरिकी की ग्रीन कार्ड होल्डर यानि नागरिक हैं लेकिन मोना का जुड़ाव अभी भी अपनी जड़ और जमीन से है। मोना बराबर खड़गपुर के अपने गांव दरियापुर आते रहती हैं। मोना के पिता का नाम सुबोध दास है और वो पेशे से इंजीनियर हैं और अमेरिका में ही बस गए हैं। मोना के दादाजी मुंगेर के जाने माने डॉक्टर और पूर्व सिविल सर्जन डॉ. गिरिश्वर नारायण दास हैं। मोना की शादी अमेरिका में हुई थी और उनके पति डॉ. जीएन दास भी वही रह रहे हैं।

मोना का जन्म 1971 में दरभंगा मेडिकल कॉलेज अस्पताल में ही हुआ था। मोना लगभग 12-14 साल की उम्र में दरियापुर गांव आईं थीं। मोना ने अमेरिका के सिनसिनाटी विश्विविद्यालय से मनोविज्ञान में स्नातक की डिग्री ली। आगे उसने पिंचोट विश्वविद्यालय से मैनेजमेंट की डिग्री हासिल की। लेकिन जनसेवा में रुचि रहने के कारण वो राजनीति से जुड़ गई। राजनीति की राह मोना के लिए आसान नहीं था, लेकिन जनसेवा के बल पर वो आगे बढ़ती गईं और जनता का दिल जीत लिया और सीनेटर(Senator)बन गईं।

The post सफलता का परचम: बिहार की मोना दास अमेरिका में बनीं डेमोक्रेटिक पार्टी की सीनेटर appeared first on Mai Bihari.