मोतिहारी में आयी बाढ़, सड़कें बनी झील, प्रशासन ने लगाया धारा 144

PATNA: मोतिहारी के सदर अस्पताल में 4 फीट तक पानी भर गया। इतना ही नहीं, गांव के लगभग घरों, जिला के स्कूलों और यूनिवर्सिटी में पानी के कारण बाढ़ जैसी स्थिति उत्पन्न हो गयी है। मोतिहारी में पानी से उत्पन्न बाढ़ जैसी स्थिति से निपटने के लिए स्कूल-कॉलेज में धारा 144 लागू कर दिया गया।

बाढ़

इतना ही नहीं, सरकार ने संवेदनशील स्थलों पर कड़ी निगरानी का निर्देश दिया है। जल संसाधन विभाग के इंजीनियरों को भी अलर्ट कर दिया है। इस बीच बारिश को लेकर मौसम विभाग ने पांच दिनों के लिए अब तक का हैवी अलर्ट जारी किया है। आपको बता दें कि जिला में जल-जमाव के कारण लोगों का घर से निकलना मुश्किल हो गया है। सड़कों पर जल जमाव के कारण नदी जैसी स्थिति उत्पन्न हो गयी है। सीतामढ़ी में मूसलाधार बारिश के कारण जर्जर घर की छत गिरी, जिससे एक महिला और दो बच्चों की मौ’त भी हो गयी है।

उत्तर बिहार व सीमावर्ती नेपाल की नदियों के जलग्रहण क्षेत्र में पिछले पांच दिनों से लगातार हो रही बारिश के कारण नदियों का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है। कई नदियां उफान पर हैं। इसको देखते हुए मौसम विभाग ने बिहार में भारी बारिश और बाढ़ की चे’तावनी जारी की है। जल संसाधन विभाग के अनुसार पटना में गंगा के जलस्तर में बढ़ोतरी दर्ज हो रही है। शिवहर में बागमती ख’तरे के निशान से ऊपर बह रही है। इनके अलावा गंडक व सोन नदी में भी पानी का उफान ज्यादा दिख रहा है।

तीन दिनों से लगातार हो रही है बारिश-

मौसम विभाग के अनुसार 11 से 14 जुलाई के बीच किशनगंज, कटिहार, अररिया, सीवान, समस्तीपुर, गोपालगंज, दरभंगा, सीतामढ़ी, शिवहर और पूर्वी चम्पारण समेत 11 जिलों में तेज बारिश की आ’शंका है। भारी बारिश के कारण नदियों के जलस्तर तेजी से वृध्दि हो रही है। जल संसाधन विभाग की रिपोर्ट के अनुसार कोसी नदी के जलस्तर में बढ़ोतरी लगातार जारी है।