अभी अभी : उपेन्द्र कुशवाहा को झटका, नागमणि ने दिया रालोसपा से इस्तीफ़ा

PATNA  : राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के नेता नागमणि ने पार्टी से इस्तीफ़ा दे दिया है। उन्होंने एक प्रेस कांफ्रेस कर के पार्टी अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा पर कई आरोप लगाये। उन्होंने कहा कि उपेन्द्र कुशवाहा 9 करोड़ रुपये ले कर टिकट बेचते हैं, साथ ही  कुशवाहा को सबसे बड़ा नौटंकीबाज भी बताया। नीतीश के साथ मंच साझा करने पर उन्होंने कहा कि “सरकारी कार्यक्रम में जाना गलत नहीं है। गौतरलब है कि नीतीश के साथ मंच साझा करने के कारण कुशवाहा ने उन्हें पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष पद से हटा दिया और कारण बताओ नोटिस भी जारी किया गया था। चुनाव के वक़्त पार्टी से एक बड़े नेता का चले जाना कुशवाहा के लिए किसी झटके से कम नहीं है। 

इससे पहले उन्होंने कहा था कि 2 फ़रवरी को उपेन्द्र कुशवाहा पर कोई लाठी चार्ज नहीं हुआ था बल्कि उनके (कुशवाहा) के चमचों ने पूरा प्लान तैयार किया था। गौरतलब है कि 2 फरवरी को शिक्षा में सुधार की मांग को लेकर रालोसपा ने पटना में राजभवन तक आक्रोश मार्च निकाला था, जिसके दौरान  कार्यकर्ताओं ने प्रतिबंधित क्षेत्र में प्रवेश की कोशिश की।  पुलिस के रोकने पर कार्यकर्ताओं और पुलिस में टकराव हो गया जिसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज किया था। लाठी चार्ज में  दर्जनों आरएलएसपी कार्यकर्ताओं के साथ उपेंद्र कुशवाहा भी घायल हो गए थे, जिसके बाद उन्हें पीएमसीएच में भर्ती करवाया गया था। लाठी चार्ज के विरोध में रालोसपा ने 4 फ़रवरी को बिहार बंद का आह्वान किया था, जिसे महागठबंधन के सभी सहयोगियों और वाम दलों ने भी समर्थन दिया था।

QUAINT MEDIA

लिस ने रालोसपा कार्यकर्ताओं पर केस दर्ज किये। केस हटाने के लिए कुशवाहा ने राज्य सरकार को अल्टीमेटम दिया था जिसके बाद शनिवार 9 फ़रवरी को उन्होंने कोतवाली थाने में अपने कार्यकर्ताओं के साथ गिरफ्तारी दी थी।   लाठी चार्ज के बाद कुशवाहा ने नीतीश कुमार पर खुद को मारने की साजिश करने का आरोप लगाया था और हाई कोर्ट के जज द्वारा जांच की मांग की थी।