प्रज्ञा पर एक्शन ले BJP, उसका बयान बर्दाश्त के लायक नहीं- CM नीतीश

PATNA : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (NITISH KUMAR) ने रविवार को चुनाव के अंतिम चरण के मतदान के दिन पटना के गवर्नर हाउस स्थित मतदान केंद्र में मतदान किया। इस दौरान सीएम नीतीश कुमार ने मीडिया से भी बातचीत की। नीतीश कुमार ने बीजेपी नेता साध्वी प्रज्ञा ठाकुर  (SADHVI PRAGYA THAKUR) के गोडसे वाले बयान पर भी अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने साध्वी प्रज्ञा के गोडसे वाले बयान की निंदा की और कहा कि इस पर बीजेपी क्या कार्रवाई करती है यह उनका आंतरिक मामला है। हमें इस तरह के बयान को बर्दाश्त नहीं करना चाहिए। बीजेपी को इस बयान पर एक्शन लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि धारा 370 को हटाने पर जेडीयू समर्थन नहीं करती है। नीतीश कुमार ने कहा कि देश में एक बार फिर से एनडीए की सरकार बनने जा रही है और इस सरकार में जेडीयू भी शामिल होगी लेकिन धारा 370 हटाने के मामले में जेडीयू समर्थन में नहीं हैं।

इस दौरान नीतीश कुमार ने चुनाव प्रक्रिया पर बात करते हुए कहा कि आम चुनाव को 7 चरणों की बजाए 2-3 चरणों में कराया जाना चाहिए। नीतीश कुमार ने आगे कहा कि आम चुनाव को साल के फरवरी और मार्च महीने में सम्पन्न कराना चाहिए। इसको लेकर उन्होंने सर्वदलीय बैठक की बात की। अप्रैल और मई के दौरान गर्मी के चलते लोगों में चुनाव को लेकर भागीदारी कम नजर आती है। आम चुनाव एक चरण में हो तो ज्यादा अच्छा है लेकिन देश बड़ा है इसलिए 2-3 चरणों में चुनाव कराया जा सकता है।

बता दें कि बीजेपी नेता साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने गोडसे को लेकर दिए बयान में कहा था कि महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे देश भक्त थे। उन्होंने आगे कहा कि आतंकवादी बताने वाले लोग पहले अपने गिरेबां में झांक कर देखें। साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने विवादित बयान देते हुए कहा था कि नाथूराम गोडसे देश भक्त थे, देश भक्त हैं और देश भक्त रहेंगे।