मोदी सरकार में शामिल नहीं होना किसी तरह का विरोध नहीं- CM नीतीश

PATNA: लोकसभा चुनाव में एनडीए को मिली शानदार जीत के बाद मोदी कैबिनेट में शामिल होने को लेकर जेडीयू ने पूरी तैयारी कर ली थीं लेकिन अंतिम समय में जेडीयू ने अपने पैर पीछे कर लिए थे। जिसके बाद कयास लगाने जाने लगे कि एनडीए में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। वहीँ बीजेपी और जेडीयू के बीच नाराजगी की खबरों को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सिरे से खारिज कर दिया।

जेडीयू के सदस्यता अभियान के दौरान सीएम नीतीश कुमार ने मीडिया से बता करते हुए कहा कि जेडीयू के मोदी सरकार में शामिल नहीं होने के पीछे किसी तरह की कोई नाराजगी और विरोध नहीं है। हम पहले की तरह ही मजबूत हैं और आगे भी रहेंगे। सीन नीतीश ने कहा कि बिहार में आगामी विधानसभा चुनाव में भी बीजेपी और जेडीयू साथ-साथ चुनाव लड़ेगी।

NITISH KUMAR

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि मोदी सरकार में जेडीयू की सांकेतिक भागीदारी की कोई आवश्यकता नहीं है। उन्होंने कहा कि सांकेतिक भागीदारी के चलते ही पार्टी ने कोई मंत्री पद नहीं लिया। इस दौरान सीएम नीतीश कुमार ने पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर को लेकर भी अपनी राय दी। उन्होंने कहा कि प्रशांत किशोर को ममता बनर्जी के रणनीतिकार के रूप में काम करने में बीजेपी की तरफ से कोई आपत्ति नहीं आयी है।

प्रशांत किशोर को लेकर सीएम नीतीश ने कहा कि वे पिछले वर्ष जेडीयू में शामिल हुए हैं और उन्हें पार्टी की अहम् जिम्मेदारी दी गई है। उनके मार्गदर्शन में इलेक्शन स्ट्रेटेजी बनाई जाती है। नीतीश कुमार ने कहा कि प्रशांत किशोर का संगठन किस रूप में काम करता है इससे जेडीयू का किसी तरह का कोई संबंध नहीं है। प्रशांत किशोर की कम्पनी का देश की लगभग सभी रिजनल पार्टियों से संबंध है।