बाढ़ पर केंद्र की राहत राशि से संतुष्ट नहीं हैं नीतीश के आपदा प्रबंधन मंत्री

PATNA : बिहार में आई बाढ़ पर केंद्र सरकार और बिहार सरकार में मनमुटाव बढ़ गया है। नीतीश सरकार के आपदा प्रबंधन मंत्री लक्ष्मेश्वर राय ने केंद्र सरकार द्वारा दी गयी राहत राशि पर कहा कि जितनी आर्थिक सहायता केंद्र सरकार ने दी है वो पर्याप्त नहीं है। मोदी सरकार ने अब तक केवल 600 करोड़ रुपए ही दिये है।

आपदा मंत्री ने केंद्र सरकार से बिहार को सिर्फ 600 करोड़ रुपए आ’पदा राहत में देने पर अफसोस जताया है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को अभी और आर्थिक सहायता देनी चाहिये। केंद्र सरकार से बिहार ने 2700 करोड़ रुपए मांगा था, लेकिन केंद्र ने अब तक सिर्फ 600 करोड़ रुपए ही दिए हैं।

बारिश के बाद राजधानी पटना में जलजमाव से बीमा’रियों का ख’तरा बढ़ता जा रहा है। पानी घटने से लोगों को राहत तो मिल रही है साथ ही बीमारियों का भी डर सताने लगा है।  बिहार में बाढ़ से लगभग 15 लाक लोग प्रभावित हुए थे। पटना सहित कई जिलों में अब भी भारी जलजमाव है। इसकी वजह से महामा’री और डेंगू का ख’तरा बढ़ रहा है।शुक्रवार को पटना में डेंगू के म’रीजों की संख्या ने रिकॉर्ड दर्ज किया। एक दिन में 136 डेंगू के मरीजों की पुष्टि हुई।

अब तक पटना मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में 1081 डेंगू के मरीजों की पुष्टि हो चुकी है। पीएमसीएच के वायरोलॉजी डिपार्टमेंट की रिपोर्ट के मुताबिक़ इस बार डेंगू के म’रीजों का आंकड़ा 1000 पार कर गया है। बीते गुरुवार को एक दिन में 70 से अधिक डेंगू के मरीजों की पुष्टि हुई थी। वहीं गुरुवार को पटना में ही 50 मरीजों में डेंगू की पुष्टि हुई। CM नीतीश कुमार ने कहा कि डेंगू के इलाज के लिए राज्य में उचित व्यवस्था होनी चाहिए। इस मामले में किसी तरह की कोई लापरवाही नहीं होनी चाहिए।