BJP का दामन छोड़ने वाले कीर्ति आजाद की उम्मीदों पर फिरा पानी, अब चाहते हैं मधुबनी सीट

PATNA: भारतीय जनता पार्टी का दामन छोड़कर कांग्रेस पार्टी का हाथ पकड़ने वाले कीर्ति आज़ाद (Kirti Azad) की उम्मीदों पर अब पानी फिरता नजर आ रहा है। कांग्रेस में जाने से पहले दरभंगा लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने की बात करने वाले सांसद कीर्ति आज़ाद अब मधुबनी सीट से चुनाव लड़ना चाहते हैं।

महागठबंधन में दरभंगा लोकसभा सीट आरजेडी के खाते में जाने के बाद कीर्ति आज़ाद की उम्मीदों पर पानी फिर गया। आरजेडी ने इस सीट से अब्दुल बारी सिद्दीकी का नाम तय कर दिया है। वहीँ अब बताया जा रहा है कि कीर्ति आज़ाद ने मधुबनी लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने की मंशा जाहिर की है। बता दें कि कीर्ति आज़ाद की दरभंगा के बाद दूसरी प्राथिमिकता धनबाद संसदीय सीट भी थी। जब कीर्ति आज़ाद कांग्रेस में शामिल हुए तो कहा जाने लगा कि वह दरभंगा से ही चुनावी मैदान में उतरेंगे।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd, archives Live Bihar Live India

वहीँ बताया जा रहा है कि कीर्ति आज़ाद चाह रहे हैं कि अगर उन्हें दरभंगा सीट नहीं मिली तो किसी तरह मुकेश सहनी से बात कर कांग्रेस को मधुबनी सीट मिल जाए। अब मधुबनी लोकसभा सीट उपेंद्र कुशवाहा की रालोसपा के खाते में जाने से कीर्ति आज़ाद असमंजस की स्थिति में आ गए हैं। आख़िरकार वह किस सीट से चुनावी मैदान में उतरेंगे इस बात पर अभी भी सस्पेंस बना हुआ है।

बता दें कि मधुबनी सीट को लेकर महागठबंधन में अभी स्थिति स्पष्ट नहीं है। इस सीट पर रालोसपा और वीआईपी में बात चल रही है। ऐसे में कीर्ति आजाद की ओर से प्रयास किया जा रहा कि मुकेश सहनी की पार्टी वीआइपी मधुबनी की सीट कांग्रेस के लिए छोड़ दे और इसके बदले वह वाल्मीकिनगर लोकसभा सीट ले ले। उनके करीबियों का कहना है कि अगर किसी कारन बस बात नहीं बन सकी तो वह कीर्ति आज़ाद कांग्रेस के टिकट पर धनबाद सीट से भी चुनावी मैदान में उतर सकते हैं।