धनबाद में रेलवे कर्मी से हुई ऑनलाइन ठगी, बैंक से उड़ाए 56 लाख रुपये

Bihar desk: आज डिजिटल युग में लोग जितना इंटरनेट पर सक्रीय जो रहे हैं, तो उसके साथ ही साइबर फ्रॉड के मामले भी काफी अधिक हो रहे हैं। इस कड़ी में झाखंड के धनबाद में एक रेलवे कर्मी को ऑनलाइन जैकट मंगाना काफी महंगा पड़ गया। दरअसलकमलेश नाम एक एक रेलवे कर्मी बने क्लब फैक्ट्री नाम की ऑनलाइन साईट से एक जैकट ऑर्डर की थी जिसके बाद अवैध ढंग से उनके बैंक से 56 लाख रुपये निकाल लिए।

 

ऑनलाइन जैकेट किया था ऑर्डर

आज लोग ऑनलाइन शॉपिंग की ओर ज्यादा आकर्षक हो रहे हैं, जाहिर है इससे काफी सहूलियत होती है। लेकिन ऑनलइन शॉपिंग करते वक्त कई लोग फाइबर क्राइम का शिकार भी हो जाते हैं। इस कड़ी में अब धनबाद से एक मामले समाने आया जहां एक रेलवे कर्मी को जैकट खरीदना काफी महंगा पड़ गया। दरअसल 3 फरवरी को मोबाइल के जरिए क्लब फैक्ट्री से ऑनलाइन जैकेट का ऑर्डर किया था। जैकेट का साइज छोटा होने के कारण उसे कैंसिल करने के लिए कंपनी के टोल फ्री नंबर पर कॉल करने की काेशिश की, पर कनेक्ट नहीं हुआ। गूगल की मदद से ढूंढ़ने पर नंबर 6297923175 मिला। इस पर कॉल किया, तो दूसरी ओर से कहा गया कि 10 मिनट के बाद वह कॉल करेगा।

quaint media

फ्रॉड करने वाले का नंबर पुलिस के हाथ लगा

घटना की जानकारी मिलने के बाद कमलेश ने तुरंत पुलिस के पास पहुंचकर इसकी जानकरी दी। वहीं पुलिस ने इसके बाद उस शख्स का नंबर हासिल कर ललिया। वहीं जब कॉलर ने कुछ देर बाद सबको फोन किया तो कॉलर के कहने पर कमलेश ने एनी डेस्क एप्लिकेशन डाउनलोड कर लिया। झांसे से एप्लिकेशन का यूपीआई पिन नंबर और बैंक खाते से जुड़े मोबाइल नंबर की जानकारी हासिल कर ली। इसके बाद कमलेश के मोबाइल नंबर पर खाते से निकासी के मैसेज आने लगे। कई बार में 56,117 रुपए डेबिट हो गए। फिर कमलेश ने एनी डेस्क एप्लिकेशन को अपने मोबाइल फोन से हटाकर यूपीआई पिन नंबर बदल लिया।