बिहार में विपक्षी नेताओं ने मंगल पांडेय का जवाब सुनने से किया इंकार,माँगा इस्तीफा

PATNA : स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय का पिछले कई दिनों से विपक्ष सदन में बहिष्कार कर रहा है। आज भी जब मंगल पांडेय एक प्रश्न का जवाब देने जा रहे थे तो विपक्ष ने हं’गामा शुरू कर दिया। बता दें विपक्ष चमकी बुखार से हुई बच्चों की मौ’त पर मंगल पांडेय का इस्तीफा मांग रहा है। आज विपक्षी दलों ने न तो खुद के सवालों का जवाब लिया और न ही स्वास्थ्य मंत्री को अन्य सवालों का जवाब देने दिया। राजद समेत सभी दल सिर्फ हंगामा करते रहे।

विधानसभा में शुक्रवार को प्रश्नोत्तर काल के दौरान 34 तारांकित प्रश्न स्वास्थ्य विभाग से संबंधित थे। इनमें से 26 सवाल विपक्षी विधायकों से लिए गए थे। विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय से सवाल पूछने के लिए जब राजद के रवींद्र सिंह का नाम पुकारा तो उन्होंने कहा कि वह ऐसे मंत्री से सवाल नहीं पूछेंगे जिनसे सभी इस्तीफा मांग रहे हों।

राजद के भोला यादव, आलोक मेहता, प्रो. चंद्रशेखर ,अब्दुल सुबहान और कांग्रेस विधायक विजय शंकर दुबे समेत कुल 26 विधायकों ने अपने सवालों का जवाब सुनने से इन्कार कर दिया।यहां तक कि सत्ता पक्ष की ओर से पूछे गए सवालों का जवाब देने के लिए जब स्वास्थ्य मंत्री खड़े हुए तो प्रतिपक्ष के विधायक शोर’गुल करने लगे।हालांकि कांग्रेस विधायकों ने अपने सवालों का जवाब लेने से तो इन्कार कर दिया किंतु  हं’गामे में राजद का साथ नहीं दिया।सभी अपनी सीट पर शांतिपूर्ण तरीके से बैठे रहे।

आपको बता दें कि चमकी बुखार को एक्यूट इन्सेफेलाइटिस सिंड्रोम (AES) के नाम से भी जाना जाता है। इस बीमारी में दिमाग में सूजन हो जाती है। ये सब वायरल इन्फे’क्शन की वजह से होता है। जापानी इन्सेफेलाइटिस को उत्तरी बिहार में चमकी बुखार के नाम से जाना जाता है। यह बुखार शरीर के इम्यून सिस्टम और दिमाग के ऊतकों पर ह’मला करता है।