बिहार की अनुपमा महिलाओं को सिखा रही सेनेटरी पैड बनाना, पूरे क्षेत्र में हैं काफी फेमस

Quaint Media Quaint Media consultant pvt ltd Quaint Media archives Quaint Media pvt ltd archives Live Bihar

Patna: बिहार के बेगूसराय जिले के बिहट विद्यालय में पदस्थापित अनुपमा सिंह 20 वर्षों से महिलाओं के हुनर सिखाकर उन्हें सशक्त बना रही हैं। वो पेशे से एक शिक्षिका हैं। महिलाओं को कई तरह के हैंडक्राट हुनर सिखाती हैं। लड़कियों को तकनीकी शिक्षा, कंप्यूटर ज्ञान और क्राफ्ट डिजाइनिंग प्रशिक्षण देती है। महिला स्वस्थ्य को लेकर अब वो महिलाओं को जागरूक करने के साथ-साथ सेनेटरी पैड भी बनना सिखा रही हैं।

दरसल मन में हो चाह तो सबकुछ है संभव है। ऐसे ही खुद शारीरिक रूप से दिव्यांग होते हुए भी एक महिला आज नारी समाज को सशक्त बना रही हैं। कई वर्षो से समाज मे अलख जगा रही हैं। जिले में वो पैडओमेन से विख्यात हैं महिलाओं को सेनेटरी पैड बनना सिखा रही हैं। अनुपमा सिंह कहती हैं कि बॉलीवुड की फेमस फिल्म पैडमैन से प्रभावित होकर इस दिशा में काम करने लगी। महिलाएं से बात करने पर पता चला कि सेनेटरी पैड काफी महंगा होने से गांव की माहिलाएं इसे आज भी इस्तेमाल नहीं कर पाती हैं। इसके बाद खुद सेनेटरी पैड बनाना दक्षिण भारत जाकर सिखी। इसके बाद से ही महिलाओं को इसे बनाना सिखा रही हैं। पैड बनाने के लिए जल्द ही मशीन भी लगा रही हैं। इस हैंडक्राट पैड को मूल्य 25 रुपये रखा है।

Quaint Media Quaint Media consultant pvt ltd Quaint Media archives Quaint Media pvt ltd archives Live Bihar

तो वहीं इसके साथ ही वे कहती है कि उनकी मां की इच्छा डॉक्टर बनाने की थी। इसके लिए उन्होंने होमियोपैथी की डिग्री भी ली। गरीबों की इलाज कर सेवा भी कर रही हैं। इसके साथ ही वो जिस विद्यालय में कार्यरत है उसे अत्याधुनिक सुविधाएं से परिपूर्ण बनावाई हैं। कई संस्थान ने उन्हें सम्मानित भी कर चुका है।समाज के लिए वो एक मिसाल बनी हुई हैं।