मैं भविष्यवाणी करता हूं अगले चुनाव में सपा-बसपा की दुकानें बंद हो जाएंगी-रामविलास पासवान

PATNA: लोकसभा चुनाव के चलते उत्तर-प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी के बीच हुआ गठबंधन अब टूटने की कगार पर आ गया है। दोनों पार्टियों के मुखिया ने अपने-अपने रास्ते अलग करने की बात कह दी है। इसके पीछे लोकसभा चुनाव में परिणाम उम्मीद के मुताबिक न आने का कारण बताया जा रहा है। गठबंधन को लेकर आ रही खबरों के बीच बिहार लोजपा के सुप्रीमो रामविलास पासवान ने बुआ-बबुआ पर तंज कसा है।

राम विलास पासवान ने मीडिया से बात करते हुए मायावती और अखिलेश यादव पर निशाना साधा है। पासवान ने कहा कि अगले चुनाव में सपा-बसपा दोनों की दुकानें बंद हो जाएंगी। पासवान ने मायावती पर तंज कसते हुए कहा कि वह तो उल्टा सपा कार्यकर्ताओं पर वोट न देने का आरोप लगा रही हैं। अगर सपा के वोटरों ने वोट नहीं दिया होता तो मायावती की 10 सीटें कैसे आ जाती वहीँ सपा को मात्र 5 सीटें ही मिली हैं।


इसी के साथ ही पासवान ने कहा कि अगले पांच सालों में देश के मुसलमान भी समझ जाएंगे कि उनकी सच्ची हितैषी एनडीए ही है। राम विलास ने अपनी बात को दोहराते हुए कहा कि उन्होंने पहले ही कहा था कि इस बार भी एनडीए को ही पूर्ण बहुमत मिलेगा और नरेंद्र मोदी फिर से देश के प्रधानमंत्री बनेंगे।

सुशील मोदी ने साधा बुआ-बबुआ पर निशाना:

इसे भी पढ़ें: बुआ-बबुआ का गठबंधन भाजपा-विरोध की कोरी नकारात्मकता पर टिका था- सुशील मोदी

बता दें कि इससे पहले बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने भी अखिलेश और मायावती पर ट्वीट कर निशाना साधा था। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि कसभा चुनाव में हार के बाद बुआ मायावती ने बबुआ अखिलेश की पार्टी से गठबंधन तोड़ने का एलान कर साबित कर दिया कि उनका रिश्ता किसी विचारधारा पर नहीं, बल्कि भाजपा-विरोध की कोरी नकारात्मकता पर टिका था। परिवारवादी दलों के ऐसे अवसरवादी गठबंधनों को नकार कर जनता ने जिस बुद्धिमत्ता का परिचय दिया उसे शत-शत नमन।