अलवर दलित महिला रेप कांड पर बसपा नेता मायावती न करें राजनीति – रामविलास पासवान

PATNA : राजस्थान के अलवर (ALWAR) जिले के थानागाजी क्षेत्र में कुछ दिनों पहले दलित महिला के साथ हुए गैंगरेप को लेकर अब राजनीतिक माहौल गर्म होने लगा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी चुनावी रैली में इस मामले को लेकर अवार्ड वापसी गैंग पर निशाना साधा तो वहीँ अब लोजपा (LJP) प्रमुख और केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान (RAM VILAS PASWAN) ने बसपा नेता मायावती (MAYAWATI) पर रेप कांड (Alwar gangrape) को लेकर राजनीति न करने की बात कही है।

राम विलास पासवान ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि “अलवर दलित महिला रेप कांड पर बसपा नेता मायावती राजनीति न करें। एक तरफ कांग्रेस का समर्थन और दूसरी ओर कांग्रेस को धमकी देना, ये दोहरी राजनीति है। मायावती ओछी राजनीति करना बंद करें। घटना राजस्थान के #अलवर में घटी है और इस्तीफा मांग रही हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से।”

पासवान ने इस ट्वीट के साथ ही और भी कई ट्वीट किये हैं। अपने ट्वीट में पासवान ने कांग्रेस और विपक्षी दलों पर निशाना साधा है। पासवान ने अपने एक अन्य ट्वीट में लिखा है कि राजस्थान में चुनाव दो चरणों में 29 अप्रैल और 6 मई को निर्धारित थे। इस घटनाक्रम से स्पष्ट है कि राजस्थान सरकार ने जानबूझकर चुनावी लाभ के लिए इस घटना को दबाया है। हम इस घटना की CBI जांच और दोषियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की मांग करते हैं।

इसी के साथ ही राम विलास पासवान ने इस घटना को निंदनीय बताया है। उन्होंने कहा कि राजस्थान के अलवर में दलित महिला के साथ बलात्कार की घटना अत्यंत निन्दनीय है। इसके लिए राजस्थान की कांग्रेस सरकार पूरी तरह से जिम्मेदार है। यह घटना 26 अप्रैल को घटी, पुलिस को सूचना 30 अप्रैल को दी गई और 6 मई को चुनाव संपन्न होने के बाद पुलिस द्वारा 7 मई को FIR दर्ज की गई।

बता दें कि इस रेप कांड को लेकर बसपा सुप्रीमो मायावती ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए उनसे इस्तीफे तक की मांग कर दी। इसी को लेकर पासवान ने मायावती पर पलटवार करते हुए अपने ट्वीट में मामले को लेकर राजनीति करने की बात कही है।