केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने जताई चिंता, पटना और मुजफ्फरपुर की हवा हुई जहरीली

PATNA : बिहार में हवा का स्तर लगातार खराब होता जा रहा है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा जारी वायु गुणवत्ता सूचकांक में पटना की स्थिति दिल्ली से भी खराब बताई गई है। वहीँ अगर बात मुजफ्फरपुर की करें तो ये प्रदूषण के मामले में पटना से भी आगे निकल गया है।

बुधवार को केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने जो आंकड़े जारी किए हैं उसमें बिहार की हवा को बहुत खराब बताया है। बात अगर देश की राजधानी दिल्ली की करें तो इसकी तुलना में पटना और मुजफ्फरपुर की हवा अधिक खराब हो गई है। देश के 104 शहरों के एयर क्वालिटी इंडेक्स में पटना देश में चौथे और मुजफ्फरपुर सातवें स्थान पर है। बिहार के दो शहर प्रदूषित शहरों की टॉप 10 सूची में शामिल हो गए हैं।

बोर्ड के आंकड़ों की बात करें तो राजधानी पटना का पीएम 2.5 स्तर 313 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर और मुजफ्फपुर का पीएम 2.5 का स्तर 327 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर दर्ज किया गया। वहीँ दिल्ली में पीएम 2.5 स्तर 305 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर दर्ज किया गया है।

बिहार में बढ़ते वायु प्रदूषण को लेकर अब नीतीश सरकार भी हरकत में आ गई है। सरकार द्वारा प्रदूषण पर नियंत्रण करने के लिए कई कठोर कदम भी उठाए जा रहे हैं। सरकार ने पहले ही 15 साल पुरानी गाड़ि‍यों को बैन कर दिया है। वहीं बिहार प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के साथ-साथ कई अन्य विभाग जैसे रोड कंसट्रक्शन, अर्बन डेवलपमेंट और फॉरेस्ट डिपार्टमेंट को प्रदूषण रोकने के लिये शोर्ट-टर्म, मिड टर्म और लॉग टर्म प्लान बना कर काम करने को कहा गया है।