PMCH में ब्लड बैंक को नहीं मिल रहे रेगुलर डोनर, मरीजों में देखी जा रही प्लेटलेट्स कमी

PATNA: बिहार में बाढ़ के बाद अब लोगों को बीमारियों का डर सताने लगा है। राज्य के कुछ जिलों में डेंगू का असर देखने को मिल रहा है। वहीं पीएमसीएच में ब्लड बैंक को रेगुलर डोनर भी नहीं मिल रहे हैं। जिसके चलते सभी ग्रुप्स के प्लेटलेट्स की कमी हो रही है।

ब्लड बैंक के प्रमुख डॉ उपेंद्र सिन्हा ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि डोनर की तो काफी कमी है। जबकि प्लेटलेट्स ताजा खून से ही बनता है। भारी बारिश के कारण एक अक्तूबर को होने वाला रक्तदान कार्यक्रम भी रोक दिया गया था। जिसके चलते ये समस्या पैदा हो गई है।

बिहार में बारिश और बाढ़ के बाद बीमारियों का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है। राजधानी पटना सहित उसके आसपास के जिलों में डेंगू बुखार का प्रभाव देखने को मिल रहा है। बारिश के बाद पटना में अब मच्छरों का आ’तंक दखने को मिल रहा है। पटना में ही 600 से अधिक लोग डेंगू की चपेट में आ गए हैं।

बारिश के बाद जिस तरह से डेंगू के मरीजों की संख्या बढ़ी है उससे सरकार भी सचेत हो गई है। पटना सहित अन्य जिलों में डेंगू ने अपने पैर पसारना शुरू कर दिया है। राज्य सरकार के आंकड़ों के मुताबिक़ अबतक डेंगू के मरीजों की संख्या 900 से अधिक पहुँच गई है। अगर पीएमसीएच की बात करें तो प्रत्येक दिन 100 से अधिक मरीज यहाँ भर्ती हो रहे हैं।

बिहार में अब तक डेंगू से कुल पीड़ितों की संख्या 980 है। डेंगू के सबसे ज्यादा मरीज राजधानी पटना में हैं। यहाँ मरीजों की संख्या 640 है।  स्वास्थ्य विभाग ने डेंगू को लेकर पटना के 35 पूजा पंडालों में भी दवाओं के साथ इलाज की भी व्यवस्था रखी है।