मेट्रो स्टेशन के लिए किये गए बदलाव, अब पटना जंक्शन पर मेट्रो के दोनों स्टेशन होंगे अंडरग्राउंड

PATNA: पटना में मेट्रो के काम ने अब रफ़्तार पकड़ ली है। वहीँ अब मेट्रो के दोनों कॉरिडोरों के एलाइनमेंट और स्टेशनों की जगह में कई बदलाव भी किए जा रहे हैं।

पटना मेट्रो के लिए दिल्ली मेट्रो रेल काॅरपोरेशन ने जो नया एलाइनमेंट तैयार किया है, उसमें पटना रेलवे जंक्शन के पास बनने वाले मेट्रो के दोनों कॉरिडोरों के स्टेशन अब अंडरग्राउंड बनाए जाएंगे।

पहले डीपीआर के अनुसार एक कॉरिडोर में मेट्रो का स्टेशन रेलवे जंक्शन से 13 मीटर ऊपर और दूसरे कॉरिडोर का स्टेशन रेलवे जंक्शन से 35 मीटर नीचे बनना था। लेकिन, दोनों मेट्रो स्टेशनों का एक ही स्थान पर ऊपर-नीचे होना ठीक नहीं माना गया है। जिसके बाद पटना जंक्शन पर मेट्रो स्टेशन बनाने का फैसला किया गया।

अब तक मिली जानकारी के मुताबिक पटना में मेट्रो दो रूट पर दौड़ेगी। पहला कॉरीडोर दानापुर से बेली रोड, पटना जंक्शन, मीठापुर होते हुए एतबारपुर तक है। दूसरा कॉरीडोर पटना जंक्शन से गांधी मैदान, साइंस कॉलेज, राजेंद्र नगर से मलाही पकड़ी, जीरो माइल होते हुए न्यू आईएसबीटी तक प्रस्तावित है।

बताया जा रहा है कि इस परियोजना को पूरा करने में लगभग 4 साल लगेंगे और 13,365.77 करोड़ रुपये के खर्च का अनुमान है। योजना के लिए भूमि अधिग्रहण की लागत राज्य सरकार वहन करेगी। पीएमआरसी के सूत्रों ने कहा कि काम पहले 16.94 किलोमीटर पूर्व-पश्चिम दिशा पर किया जाएगा जो दानापुर को सगुना मोड़, बेली रोड और पटना जंक्शन से मीठापुर बस स्टैंड से जोड़ेगा। दूसरी ओर 14.45 किलोमीटर उत्तर-दक्षिण दिशा से पटना जंक्शन को अशोक राजपथ, गांधी मैदान और राजेंद्र नगर होते हुए बैरिया में प्रस्तावित बस स्टैंड से जोड़ेगा।