पटना हाई कोर्ट में जस्टिस राकेश कुमार के विवा’द पर पीएमओ ने मंगाई फैसले की प्रति

PATNA : बिहार में न्यायपालिका में चल रहे विवा’द पर पीएमओ भी सक्रिय हो गया है। ऐसा कहा जा रहा है कि जस्टिस राकेश कुमार द्वारा दिए गए फैसले की प्रति पीएमओ ने मंगाई है। इसके अलावा सर्वोच्च न्यायालय भी मामले पर नज़र बनाये हुए है। आपको बता दें कि पटना हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस अमरेश्वर प्रसाद शाही ने सोमवार को भी जस्टिस राकेश कुमार को काम से अलग रखा है।

आपको बता दें कि पटना हाई कोर्ट के जस्टिस राकेश कुमार ने न्यायपालिका पर अपने फैसले में टिप्पणी की थी। उन्होंने एक मामले की सुनवाई के दौरान कहा था कि भ्रष्टा’चारियों को न्यायपालिका से भी संरक्षण मिलता है। जिन आरो’पियों को स’जा मिलनी चाहिए उन्हें छोड़ दिया जाता है। उन्होंने कहा था जबसे न्यायाधीश पद की शपथ ली है, तब से देख रहा हूं कि सीनियर जज भी मुख्य न्यायाधीश के आगे पीछे घूमते हैं, ताकि उनसे लाभ लिया जा सके। इसके बाद राकेश कुमार से सभी केस वापस ले लिए गए थे और उन्हें किसी भी मा’मले की सुनवाई करने से रोक दिया गया था।

जस्टिस राकेश कुमार के इस आदेश के बाद पटना हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस ने कहा था कि ऐसा लगता है कि पूरे देश में वही सबसे ईमानदार जज हैं। जस्टिस राकेश कुमार  ने कहा कि उन्‍हें जो सही लगा, वही किया। वे अपने स्टैंड पर कायम हैंआपको बता दें कि अब राकेश कुमार को सरकार ने पु’लिस मामलों की एडवाइजरी बोर्ड का नया अध्यक्ष बना दिया है। इस बोर्ड में रिटायर जज जस्टिस आदित्य नारायण चतुर्वेदी और जस्टिस रेखा कुमारी भी सदस्य के रूप में काम करेंगी। एडवाइजरी बोर्ड प्रशा’सन एवं पु’लिस से जुड़े मामलों पर अपनी सलाह सरकार को देता है।