मुजफ्फरपुर में 49 हस्तियों पर नहीं चलेगा राजद्रोह का केस, शिकायतकर्ता वकील पर चलेगा केस

PATNA: बिहार के मुज़फ्फपुर में मॉ’ब लिंचिंग के खिलाफ पीएम मोदी को पत्र लिखने वाली 49 हस्तियों के खिलाफ राजद्रोह का मामला बंद करने का आदेश दिया गया है।

मुजफ्फरपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सिन्हा ने इस मामला को लेकर मीडिया से बात करते हुए बताया कि इस केस को बंद करने का आदेश दिया गया है। इसके पीछे का कारण बताते हुए उन्होंने कहा कि इस मामले की जाँच में अब तक यह बात सामने आई कि 49 आरोपियों के खिलाफ लगाए गए आरोप शरारतपूर्ण हैं। वकील द्वारा लगाए गए आरोपों में कोई ठोस आधार नहीं है।

बता दें मुजफ्फरपुर के स्थानीय अधिवक्ता सुधीर कुमार ओझा की एक याचिका पर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के आदेश पर पिछले हफ्ते सदर पुलिस थाना में एक प्राथमिकी दर्ज की गई थी। लेकिन अब इस मामले को बंद करने ला निर्देश दिया गया है साथ ही शिकायतकर्ता वकील के खिलाफ मुकदमा दायर करने की बात सामने आई है।

एडीजी हेडक्वार्टर जीतेंद्र कुमार का कहना है कि शिकायतकर्ता, सबूत उपलब्ध करा पाने में नाकाम रहा है. यहां तक कि वो वह पत्र भी नहीं दिखा सका जिसके आधार पर उसने मामला दर्ज करवाया था। इसके साथ यह भी पाया गया कि इस याचिका को दायर करने के पीछे शिकायतकर्ता के उद्देश्य ठीक नहीं थे। उसके खिलाफ आईपीसी की धारा 182 और 211 के तहत मुकदमा दायर किया जाएगा।