बिहार की सभी जेलों में पुलिस प्रशासन की बड़ी छापेमारी, मच गया हड़कंप

PATNA : लोकसभा चुनाव के चलते बिहार की पुलिस अब सतर्क हो गई है। लोकसभा चुनाव के दौरान किसी तरह की कोई दुर्घटना न हो इसके लिए प्रशासन ने अपनी कमर कस ली है। पुलिस प्रशासन पर चुनाव के समय शांति व्यवस्था बनाए रखनी बड़ी जिम्मेवारी है। इसके लिए पुलिस प्रशासन ने बिहार की सभी जेलों में कड़ी छापेमारी की है। इस छापेमारी से जेलों में हड़कंप मच गया है।

बता दें कि पुलिस प्रशासन ने आज बिहार की सभी जेलों में जबरदस्त छापेमारी की है। लोकसभा चुनाव में पुलिस प्रशासन राज्य में शांति व्यवस्था से किसी भी तरह का कोई समझौता नहीं कर सकता है। बताया जा रहा है कि आईजी मिथिलेश मिश्रा के निर्देश पर राज्य के सभी जेलों में प्रातः आठ बजे से ही छापेमारी अभियान चलाया जा रहा है, जिससे कैदियों के बीच हड़कंप मच गया है।

Quaint Media Quaint Media consultant pvt ltd Quaint Media archives Quaint Media pvt ltd archives Live Bihar

आईजी मिथिलेश मिश्रा के आदेश पर इस अभियान के अंतर्गत जेलों के भीतर से होने वाली आपराधिक गतिविधियों पर नजर रखने के साथ-साथ ही मोबाइल, मादक पदार्थ पर भी विशेष नजर रखी जा रही है। बता दें कि पटना के आदर्श केंद्रीय कारा बेउर, भागलपुर जेल, पूर्णिया जेल के साथ-साथ राज्य की सभी जेलों में पुलिस प्रशासन द्वारा कड़ी छापेमारी की जा रही है।

औरंगाबाद मंडल कारा में डीएम राहुल रंजन महिवाल और एसपी दीपक वर्णवाल के नेतृत्व में छापेमारी की गई । इस छापेमारी में जेल से चार मोबाइल, तीन चार्जर एवं नशीला पदार्थ मिला। वहीँ राज्य की अन्य जेलों में से भी इसी तरह का सामान मिल रहा है। मुजफ्फरपुर में खुदीराम बोस सेंट्रल जेल से सघन तलाशी के दौरान पेन ड्राइव, मोबाइल चार्जर, तंबाकू मिली।