नीतीश का बड़ा फैसला, किसी भी संविदाकर्मी की नहीं जाएगी नौकरी, दूसरे विभाग में किया जाएगा ट्रांसफर

नीतीश का बड़ा फैसला, किसी भी संविदाकर्मी की नहीं जाएगी नौकरी, दूसरे विभाग में किया जाएगा ट्रांसफर

By: Sudakar Singh
September 14, 02:44
0
.......................

Live Bihar Desk : बिहार में संविदाकर्मियों के लिए खुशखबरी है। राज्य के सरकारी विभागों ने संविदा पर काम करने वाले कर्मियों का रहात दी है। सभी विभागों करे संविदा कर्मी के लिए सेवा शर्त एक जैसा ही होगा। कैबिनेट ने कॉन्ट्रैक्ट कर्मियों की सेवा के संबंध में गठित उच्चस्तरीय समिति की सिफारिशों को मंजूरी दे दी।

कैबिनेट विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने कहा कि संविदा कर्मियों के स्थायी नौकरी के लिए आवेदन देने में उम्र सीमा में छूट दी जाएगी। किसी विभाग में अगल संविदा कर्मी की जरूरत नहीं है तो ऐसी स्थिति में भी किसी कर्मी की नहीं निकाला जाएगा। इन्हें किसी दूसरे विभाग में समायोजित किया जाएगा। इसके अलावा कॉन्ट्रैक्ट कर्मियों को मातृत्व लाभ भी मिलेगा और उन्हें राज्य कर्मचारी बीमा योजना के दायरे में भी रखा जाएगा।

बहरहाल बेलट्रॉन के जरिए बहाल होने वाले कॉन्ट्रैक्ट कर्मियों को इन सुविधाओं का लाभ लेने के लिए अभी और इंतजार करना पड़ेगा। प्रधान सचिव ने कहा कि बेलट्रॉन के जरिए बहाल किए गए कॉन्ट्रैक्ट कर्मियों के मामले में बाद में फैसला किया जाएगा। जिन विभागों में बेलट्रॉन के जरिए कॉन्ट्रैक्ट कर्मियों को रखा गया है, उन विभागों को उच्च स्तरीय कमेटी के सामने अलग से प्रस्ताव देने को कहा गया है। प्रस्ताव मिलने के बाद ही कोई फैसला लिया जाएगा।

कैबिनेट की बैठक में एक और बड़ा फैसला लिया गया। बिहार में डॉक्टरों और इंजीनियरों की बहीली की प्रक्रिया में परिवर्तन किया जाएगा।चिकित्सा पदाधिकारी, सहायक अभियंता और पशु चिकित्सा पदाधिकारी की नियुक्ति के लिए इंटरव्यू की अनिवार्यता को समाप्त कर दिया गया है। कैबिनेट विभाग के प्रधान सचिव ने बताया कि अब इनकी बहाली एकेडमिक परीक्षा में हासिल अंक के ही आधार पर हो जाएगी। बहाली में राज्य के मेडिकल कॉलेज, इंजीनियरिंग कॉलेज और वेटनरी कॉलेज से पढ़े छात्रों को क्षैतिज रूप से 50 प्रतिशत आरक्षण दिया जाएगा।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।
comments