नेपाल-भारत के बीच पहली ट्रेन दिसंबर से, रक्सौल-काठमांडो रेल परियोजना में भी तेजी  

नेपाल-भारत के बीच पहली ट्रेन दिसंबर से, रक्सौल-काठमांडो रेल परियोजना में भी तेजी  

By: Anurag Goel
July 11, 13:37
0
...

Live Bihar Desk : नेपाल और भारत के बीच पहली ब्रॉड गेज ट्रेन दिसंबर में शुरू हो जाने की उम्मीद है।  बिहार के रक्सौल से लेकर काठमांडो तक बनने वाली रेल लाइन के लिए सर्वेक्षण को लेकर एक समझौते पर हस्ताक्षर करने के लिए भारत और नेपाल के बीच सहमति बन गयी है। तिब्बत को काठमांडो से जोड़ने वाली एक रेल लाइन के लिए नेपाल और चीन के बीच सहमति बनने के कुछ ही हफ्तों के बाद यह कदम उठाया गया है।


रक्सौल-काठमांडो रेल लाइन के अलावा नेपाल और भारत के बीच सीमा के आर-पार पांच रेल लाइनों का निर्माण कार्य पहले ही शुरू कर दिया गया है। इसमें एक रेल लाइन जय नगर से जनकपुर-कुर्था के बीच एक साल के अंदर शुरू हो जायेगी। नेपाल और भारत के अधिकारी सोमवार को रक्सौल-काठमांडो रेल लाइन के एमओयू को अंतिम रूप देने पर सहमत हो गये हैं। 
एक सामाचार एजेंसी के मुताबिक ये खंड जयनगर से नेपाल के दक्षिण पूर्व क्षेत्र तक 69 किमी का नेपाल-भारत सीमा पार रेलवे का एक भाग है। दोनों पड़ोसियों के बीच बाकी पांच सीमा-पार रेलवे लाइन का निर्माण किया जा रहा है या इन पर बाकी काम चल रहा है। इससे पहले जनकपुर-जयनगर लाइन पर छोटी लाइन थी। इसे बड़ी लाइन में बदलने और नवीनकरण कार्यो के लिए पांच साल पहले बंद कर दिया गया था।


नेपाल के रेलवे विभाग के मुताबिक जल्द परिचालन शुरू करने के लिए भारत से पट्टे पर रेल गाड़ियां लेकर चलाने की योजना बनाई है।डीओआर के अनुसार, नेपाल सेवा के संचालन के लिए भारतीय चालक दल के सदस्यों को किराए पर लेगा क्योंकि हिमालयी देश में ब्रॉड गेज रेल सेवा को संचालित करने के लिए आवश्यक मानव संसाधन नहीं है।
गौरतलब है कि नेपाली पीएम केपी शर्मा ओली की भारत यात्रा के दौरान काठमांडो से रक्सौल को रेल लाइन से जोड़ने के लिए नेपाल और भारत के बीच सहमति बनी थी। 

आप हमारे वीडियो यूट्यूब पर भी देख सकते हैं, हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें:

 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।
comments