नहीं होगी ईंटों की कमी, सुशील मोदी के आश्वासन के बाद 7200 ईंट निर्माताओं किया हड़ताल खत्म

नहीं होगी ईंटों की कमी, सुशील मोदी के आश्वासन के बाद 7200 ईंट निर्माताओं किया हड़ताल खत्म

By: Sudakar Singh
January 24, 08:01
0
....

Patna : बिहार के 7200 ईंट निर्माताओं ने हड़ताल वापस ले ली है। उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने संघ के प्रतिनिधियों को कार्यालय बुलाकर ई-चालान को वापस लेने का आश्वासन दिया। संघ के प्रधान महासचिव राजेन्द्र प्रसाद ने बताया कि सोमवार को रामकृपाल यादव ने भी इस मुद्दे पर गंभीरता दिखाई और डिप्टी सीएम से इस विषय पर चर्चा की थी। संघ ने रामकृपाल यादव और सुशील मोदी को धन्यवाद दिया है। ईंट-भट्‌ठा मालिकों ने ई-चालान की समस्या को लेकर राज्य के 7200 ईंट-भट्‌ठों पर काम बंद कर दिया था।  


गौरतलब है कि बिहार में लाल ईंटों के 2000 से अधिक ईंट भट्‌ठों ने काम बंद कर दिया था। राज्य सरकार के इलेक्ट्रॉनिक चालान की व्यवस्था के विरोध में पूरे बिहार में लाल ईंटों का उत्पादन और बिक्री रोकी जा रही थी। बिहार ईंट निर्माता संघ के आह्वान पर पूरे बिहार में विरोध किया गया।  
खनन विभाग के सूत्रों की मानें तो राज्य में 1800 से अधिक ईंट भट्‌ठे या कहें 25% ईंट भट्‌ठे अवैध हैं। इनके पास न बिक्री का लाईसेंस है और न मिट्‌टी काटने के लिए खनन विभाग का परमिट। इससे सरकार को राजस्व का भारी नुकसान हो रहा है। अब अगर इन 1800 ईंट भट्‌टों को रेग्यूलराईज कर दिया जाए तो करीब 20 करोड़ ईंटों की बिक्री टैक्स के दायरे में आ जायेगी। 


इधर जीएसटी को लेकर ईंट भट्‌ठों को रेग्यूलराईज करने में भी कई परेशानियां हैं क्योंकि इनमें से बहुतायत वैट के दायरे में नहीं हैं। जीएसटी के तहत ई-वे बिल में भी इनके परिगमन को नियंत्रित करना मुश्किल होगा क्योंकि 90 फीसदी ईंटों का ट्रांसपोर्ट ट्रैक्टर के द्वारा होता है जिसपर अनुमानित 12-15 हजार की ही लोडिंग होती है और ई-वे बिल 50 हजार के उपर लागू होता है।   
 
 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।
comments