बिहार में सभी छोटे दलों को कांग्रेस में शामिल हो जाना चाहिए- प्रेमचंद्र मिश्रा

PATNA: लोकसभा चुनाव के परिणाम ने बिहार की राजनीति पर गहरा असर किया है। महागठबंधन को मात्र 1 सीट मिलने के बाद से बहुत से नेताओं ने इससे अलग होने की बात तक कह दी। वहीँ अब बिहार Congress के बड़े नेता Premchandra Mishra का बड़ा बयान सामने आया है।

कांग्रेस नेता प्रेमचंद्र मिश्रा ने कांग्रेस पार्टी को सलाह देते हुए कहा कि बिहार के छोटे दलों को अब कांग्रेस पार्टी में शामिल कर लेना चाहिए। प्रेम चंद्र मिश्रा ने आगे कहा कि राज्य के छोटे दलों को अलग-अलग दुकान खोलकर बैठने से कोई फायदा नहीं है। जब सभी दलों की विचारधारा एक है तो अलग-लगा प्ल्टेफोर्म क्यों बनाया जाए।

prem chandra mishra

जिस तरह से लोकसभा चुनाव में महागठबंधन का हश्र हुआ है उसे देखकर कांग्रेस पार्टी के कई नेताओं ने महागठबंधन से अलग होने की बात भी कह दी। कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता सदानंद सिंह ने बिहार में महागठबंधन की करारी हार के बाद कांग्रेस पार्टी को अकेले खड़े होने की बात तक कह दी।

सदानंद सिंह ने कहा कि अब समय आ गया है कि कांग्रेस पार्टी को किसी की बैसाखी के बदौलत खड़ा नहीं होना चाहिए। पार्टी अकेले रहकर भी मजबूत हो सकती है। अब कांग्रेस पार्टी को दूसरों की बैसाखी से उबरना होगा। सदानंद सिंह ने इशारों ही इशारों में कांग्रेस पार्टी को नसीहत देते हुए कहा कि अब पार्टी को महागठबंधन से अलग हो जाना चाहिए।

बता दें की महागठबंधन को 40 लोकसभा में से मात्र 1 सीट पर जीत हासिल हुई। ये जीत किशनगंज लोकसभा सीट पर कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार को मिली। वहीँ 39 सीटों पर एनडीए गठबंधन ने जीत दर्ज की। जिसमें 17 सीटें बीजेपी, 16 सीटें जेडीयू और 6 सीटों पर लोजपा ने कब्जा जमाया।