बिहार के प्रियांक ने अपने पहले प्रयास में ही पास किया UPSC परीक्षा, ऑल इंडिया में 274 रैंक मिला

QUAINT MEDIA

Patna: संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की सिविल सेवा परीक्षा में इस बार बिहार के कई मेधावी छात्रों ने परचम लहराया है। जहां बिहार से 40 से अधिक अभ्यर्थी सिविल सेवा परीक्षा के लिए चयनित हुए हैं। इन 40 अभ्यर्थी में से एक है हजारीबाग के डीएसपी कमल किशोर के बेटे प्रियांक किशोर। प्रियांक ने अपने पहले प्रयास में ही यूपीएससी परीक्षा पास कर लिया। 22 साल के प्रियांक को ऑल इंडिया में 274 रैंक मिली है।

तो वहीं प्रियांक अभी दिल्ली स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स में पीजी के छात्र हैं। प्रियांक ने प्राथमिक पढ़ाई जमशेदपुर से की है। हाई स्कूल st ज़ेवियर से, 12 वी st जेवियर स्यामली, रामजस कॉलेज से डिग्री प्राप्त किया है। पिता कमल किशोर आरा-बक्सर के निवासी हैं। कमल के बड़े बेटे प्रांजल किशोर सुप्रीमकोर्ट में अधिवक्ता हैं। प्रियांक ने बताया कि उन्होंने कोई अलग से कोचिंग नहीं की थी। प्रियांक के पिता कमल किशोर 1989 बैच के दरोगा हैं। हाल ही में 2019 में कमल किशोर डीएसपी बने हैं।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd, archives Live Bihar Live India

आपको बता दें कि इसमें बिहार के पटना स्थित बड़े कारोबारी सुनील खेमका की बेटी सलोनी को 27वीं रैंक मिली है, जबकि पटना के कारोबारी कमल नोपानी के बेटे आयुष नोपानी को 151वीं रैंक मिली है। इसी तरह जमुई, नालंदा, दरभंगा, बेगूसराय, वैशाली आदि जिलों के अभ्यर्थियों ने भी सफलता हासिल की है। आपको बताते चले कि यूपीएससी ने अपनी ऑफिशियल वेबसाइट (www।upsc।gov।in) पर सफल अभ्यर्थियों की सूची अपलोड कर दी है। इसमें से 361 जनरल कैटेगरी, 209 ओबीसी, 128 एससी, 61 एसटी श्रेणी के अभ्यर्थी हैं। यूपीएससी की मुख्य परीक्षा पिछले साल सितंबर-अक्टूबर में आयोजित की गई थी। मुख्य परीक्षा में सफल अभ्यर्थियों का साक्षात्कार फरवरी-मार्च महीने में लिया गया था।