बिहार विधानसभा में भी पुलवामा की गूंज दी सुनाई, मौन रखकर शहीदों को दी श्रद्धांजलि

PATNA : जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले से पूरे देश में दुःख का माहौल है। पुलवामा आतंकी घटना ने देश को झकझोर कर रख दिया है। इस हमले की गूँज बिहार विधानसभा में भी सुनाई दी। शुक्रवार को बिहार विधानसभा में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि दी गई। इस हमले को लेकर विधानमंडल के दोनों सदनों में देश के लिए शहीद हुए जवानों को मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गई।

विधानसभा में सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच हुए हंगामे के चलते शोक प्रस्ताव के तुरंत बाद सदन की कार्यवाही को स्थगित कर दिया गया। वहीँ दोपहर बाद भी विपक्ष ने सदन को स्थगित करने की मांग को लेकर सदन से वाकआउट कर लिया। इसके पहले सदन में कांग्रेस के प्रेमचंद मिश्र ने पुलवामा की घटना पर कार्यस्थगन प्रस्ताव लाए। विधानसभा अध्यक्ष ने जिसे अमान्य कर दिया। जिसके बाद प्रेमचंद मिश्र ने कहा कि पुलवामा हमले में बिहार के भी दो बेटे शहीद हुए हैं।

Quaint Media

विधानसभा में सदन की कार्यवाही शुरू होते ही अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने सदन को पुलवामा आतंकी हमले की जानकारी सदस्यों को दी। अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों के हमले में सीआरपीएफ के 40 से अधिक जवान शहीद हो गये। इन जवानों में बिहार के भी दो वीर जवान शहीद हुए हैं। यह सभा इस हमले की कड़े शब्दों में निंदा करती है साथ ही हमले में शहीद हुए सभी जवानों के प्रति भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करती है।

इस दौरान विधानसभा में सदन की कार्यवाही को स्थगित करने को लेकर मंत्री नंदकिशोर यादव और आरजेडी विधायक भाई वीरेंद्र के बीच झगड़ा भी देखने को मिला। वहीँ इन दोनों नेताओं ने एक-दूसरे को देख लेने तक की धमकी दे दी। दोनों के बीच विवाद को देखते हुए कांग्रेस के अवधेश सिंह ने मामले को बीच में शांत कराया। वहीँ सदन की भावना को देखते हुए विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने सदन की सहमति से कार्यवाही को 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया।