पुलवामा आ’तंकी ह’मले में पर बिहार राज्‍यपाल व सीएम ने जताया दुख

PATNA : जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए बड़े आ’तंकी ह’मले के बाद देश में चारों तरफ दुःख का माहौल है। इस आ’तंकी ह’मले ने पूरे देश को हिला कर रख दिया। आ’तंकी हमले पर बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दुःख प्रकट किया है। इस ह’मले की निंदा करते हुए शहीद जवानों के प्रति संवेदनाएं व्‍यक्‍त की हैं।

राज्‍यपाल लालजी टंडन ने इस हमले को लेकर कहा कि “जवानों का बलिदान बेकार नहीं जाएगा, देश की एकता व अखंडता को चुनौती देने वाली शक्तियों के मंसूबे कभी कामयाब नहीं हाेंगे। लालजी टंडन ने हमले की घोर निंदा करते हुए घायल जवानों के शीघ्र स्‍वास्‍थ्‍य लाभ की कामना की है।” वहीं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हमले को लेकर कहा कि “वीर जवानों की शहादत को हमेशा याद रखा जाएगा, मैं ईश्वर से घायल जवानों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं। ये घटना बेहद दुखद है। प्रार्थना करता हूं कि ईश्‍वर पीडि़त परिवारों को दुख सहने की शक्ति दे।”

Quaint Media

 

वहीँ इस ह’मले को लेकर लोजपा प्रमुख रामविलास पासवान ने भी अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट कर आ’तंकी हमले पर दुख जताया। पासवान में अपने ट्वीट में कहा कि “जम्मू-कश्मीर के अवंतीपुरा में आ’तंकवादियों द्वारा सीआरपीएफ के काफिले पर ह’मला कायरतापूर्ण है, निन्दनीय है। देश की रक्षा करते हुए शहीद जवानों को कोटि-कोटि नमन है एवं उनके परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं।”

पुलवामा इलाके में सीआरपीएफ के काफिले पर आ’तंकियों ने IED से ह’मला किया। आधिकारिक रूप से शहीदों का आंकड़ा 40 से अधिक बताया जा रहा है। आतंकी संगठन जैश-ए- मोहम्मद ने इस ह’मले की जिम्मेदारी ली है। उरी के बाद ये दूसरा पहला इतना बड़ा ह’मला माना जा रहा है। 18 सितंबर 2016 को हुए उरी ह’मले में कुल 19 जवान शहीद हो गए थे। इस हमले के बाद आरजेडी नेता लालू यादव और तेजस्वी यादव ने अपनी संवेदना व्यक्त की है और आ’तंकवादियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का आग्रह किया है।