सुरक्षा को देखते हुए रेलवे ने शुरू की व्यवस्था, चलती ट्रेन में की कोई गलत हरकत की तो खैर नहीं

PATNA: रेल मंत्रालय ने उत्तर बिहार से खुलने वाली कुछ प्रीमियम ट्रेनों की सुरक्षा व्यवस्था को और चुस्त-दुरुस्त करने की तैयारी कर दी है। रेल मंत्रालय सुरक्षा देने के लिए हाईटेक योजना लाने की तैयारी में है। रेल विभाग रनिंग ट्रेन को सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में रखने की प्लानिंग कर रहा हैं। इस योजना के लिए सभी बोगियों में कैमरे लगाए जाने की तयारी की जा रही है।

रेलवे ने इस योजना की तैयारी भी लगभग पूरी कर ली है। इसलिए जल्द ही इस योजना पर काम करने की उम्मीद की जा रही है। रेल मंत्रालय का कहना है कि कैमरे से आपराधिक गतिविधियों पर तो नजर रहेगी ही साथ ही रेल कर्मचारियों की एक्टिविटी पर भी नजरें रखी जा सकेगीं। इन सीसीटीवी की सहायता से रेल यात्रियों को अच्छी सुविधा मुहैया कराई जा सकेगी।

Quaint Media

रेल मंत्रालय में अधिकतर रनिंग सफाईकर्मियों की लापरवाही, टीटीई-यात्री विवाद और पैंट्रीकार कर्मी से नोकझोंक की शिकायत आती रहती है। सीसीटीवी के बाद इन समस्याओं पर नियंत्रण रखने में सहूलियत होगी। यात्रियों के मन में भी सुरक्षा का भाव रहेगा। स्टेशनों पर उद्घोषणा के समय ट्रेेनों में सीसी कैमरा होने की जानकारी भी दी जाएगी।

रेलवे की इस योजना के अंतर्गत बिहार के दरभंगा से चलने वाली स्वतंत्रता सेनानी, बिहार संपर्क क्रांति और वैशाली एक्सप्रेस को पहले स्टेप में कैमरे से लैस किया जाएगा। इसके बाद इस योजना के परिणाम को देखते हुए रेलवे सीसीटीवी की इस योजना को अन्य प्रमुख ट्रेनों में भी लागू कर सकती है। योजना के अंतर्गत गार्ड कंपार्टमेंट में एलसीडी स्क्रीन लगाया जाएगा, जहां से पूरी बोगियों पर नजर रखी जा सकेगी। वहीँ कैमरे के फुटेज को एक पोर्टेबल डिवाइस के माध्यम से रिकॉर्ड और सुरक्षित किया जाएगा।

प्रारंभिक तौर पर यह एक महीने के लिए होगा। जरूरत पडऩे पर इसका प्रयोग आगे भी किया जा सकेगा। कैमरों को सभी दरवाजों और शौचालय एरिया को कवर करते हुए लगाया जाएगा साथ ही यात्रियों की निजता का भी पूरा ध्यान रखा जाएगा। रेल मंत्रालय महिलाओं की सुरक्षा को लेकर ज्यादा चिंतित है। महिला कोच को ज्यादा सुरक्षित बनाने की योजना पर काम हो रहा।