क्या बिहार के महाराजगंज से चुनाव लड़ेंगे केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, राजनीतिक गलियारे में चर्चा तेज

PATNA : लोकसभा चुनाव को देखते हुए सभी दलों में सीटों को लेकर माथापच्ची जारी है। कौन किस सीट से चुनाव लड़ेगा? अब तक कोई भी दल फैसला नहीं ले सका है। इस बीच खबर मिल रही है कि बिहार के महाराजगंज में बीजेपी से राजनाथ सिंह चुनाव लड़ सकते हैं। बता दें कि राजनाथ सिंह वर्तमान में यूपी की राजधानी लखनऊ से सांसद हैं और मोदी सरकार में गृहमंत्री। बीजेपी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार,पार्टी इस बार उन्हें महाराजगंज से चुनाव लड़ाने की तैयारी कर रही है।

दरअसल, महाराजगंज लोकसभा क्षेत्र सारण और सीवान जिले के कई हिस्सों का मिलाकर बना है। यह लोकसभा क्षेत्र उत्तर प्रदेश की सीमा से सटा इलाका है। यह राजपूत बाहुल इलाका है और राजनाथ सिंह भी राजपुत हैं। अगर राजनाथ सिंह महाराजगंज से चुनाव लड़ते हैं तो बिहार के साथ-साथ बीजेपी यूपी के सीमावर्ती इलाकों में अपनी पैठ और मजबूत करने में सफल रहेगी। साथ ही राजपूत वोटर्स को साधने में भी सफल रहेगी क्योंकि महाराजगंज लोकसभा सीट से सटे अन्य जो जिले हैं। वहां राजपूत वोटर्स निर्णायक हैं।

महाराजगंज से वर्तमान में जनार्दन सिंह सिग्रीवाल सांसद हैं। 2014 में उन्होंने बीजेपी के टिकट पर बाहुबली प्रभुनाथ सिंह को हराकर सांसद बने थे। बताया जाता है कि बाहुबली प्रमुनाथ सिंह की इस सीट पर अच्छी पकड़ है और यहां से वे चार बार सांसद रहे हैं। फिलहाल के एक केस में सजायफ्ता हैं और झारखंड के हजारीबाग जेल में सजा काट रहे हैं।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives, Live Bihar, Live India

बताते चले कि सीटों को लेकर राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) के सहयोगी दलों में मामला अभी तक सुलझ नहीं सका है। कई संभावित चेहरों को बदलने के दबाव के कारण भी पेंच फंस गया है। एनडीए के नेता बीती रात तक दिल्ली में इस गुत्थी को सुलझाने में लगे रहे। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) प्रदेश चुनाव समिति की बैठक आज पार्टी मुख्यालय में हो रही है। बैठक में बिहार के भाजपा प्रभारी भूपेंद्र यादव शामिल हैं।

सूत्रों के अनुसार पिछले लोकसभा चुनाव में 30 सीटों पर चुनाव लडऩे वाली भाजपा की अभी तक एक दर्जन सीटें ही ऐसी है जहां से उसका चुनाव लडऩा लगभग तय है। ये सीटें हैं- बेतिया, मोतिहारी, मुजफ्फरपुर, छपरा, उजियारपुर, मधुबनी, अररिया, पटना साहिब, सासाराम, बेगूसराय और गया। अन्य सीटों पर जदयू और लोजपा की दावेदारी के कारण मामला अटका हुआ है।

मिथिलांचल में दरभंगा सीट को लेकर भी मामला फंसा है। जनता दल यूनाइटेड (जदयू) संजय झा के लिए यह सीट मांग रहा है। भाजपा के लिए यह हमेशा से ही प्रतिष्ठा की सीट रही है। उत्तर बिहार में आरएसएस की गतिविधियों का संचालन यहीं से होता है। ऐसे भी 1996 में जदयू से गठबंधन के बाद से लगातार भाजपा यहां से चुनाव लड़ते रही है। यही स्थिति नवादा की है। नवादा में तो भाजपा जनसंघ काल से ही चुनाव जीतते रही है।

About Vishal Jha

I am Vishal Jha. I specialize in creative content writing. I enjoy reading books, newspaper, blogs etc. because it strengthened my knowledge and improve my presentation abilities

View all posts by Vishal Jha →