चुनाव बाद बिहार में क्रा’इम की दहशत, भाजपा नेता रामकृपाल यादव बोले- क्या नहीं रहा कानून का राज

PATNA: पाटलिपुत्र से नवनिर्वाचित सांसद रामकृपाल यादव ने बिहार में, अपनी ही सरकार के शासनकाल में पुलि’स-प्रशासन को कोसने लगे। उन्होंने कहा कि 8 जून को एक व्यक्ति के साथ बालू-माफिया मा’रपीट करता है। इसके बाद जब वो व्यक्ति पु’लिस के पास गया तो पुलि’स ने उलटे उसे डांटकर घर भेजा दिया। वह पिछड़ा समाज का लड़का है, उसे सताया जा रहा है। 

रामकृपाल ने कहा कि वह लड़का पुलि’स के डर से कुछ बता नहीं रहा था, लेकिन बार-बार कहने पर उसने बालू-माफिया और पुलि’स की मिलीभगत के बारे में सारी बातें बतायी। ऐसा लगता है कि बिहार में कानून का राज नहीं है। सरकार और प्रशासन को चाहिए कि उसके खिला’फ सख्त से सख्त कार्र’वाही करे। इतना ही नहीं, ऐसे अपरा’धियों को जे’ल की हवा खिलानी चाहिए। रामकृपाल का मानना है कि लोकसभा चुनाव में राजद की बुरी तरह से हा’र हुई तो इसके कारण बिहार में क्रा’इम बढ़ने लगा है। राजद के समर्थक भाजपा समर्थक के साथ मार’पीट करने लगे हैं।

राजद के ही बागी नेता है रामकृपाल-

आपको बता दें कि 2019 के लोकसभा चुनाव में पाटलिपुत्र लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से रामकृपाल यादव ने लालू प्रसाद यादव की बेटी मीसा भारती को हराकर सांसद बने। वे पाटलिपुत्र से लगातार दो बार सांसद हैं। इतना ही नहीं, उन्हें मोदी मंत्रिमंडल में भी शामिल किया गया है। गौरतलब है कि राम कृपाल वही नेता हैं, जिसे लालू यादव ने टिकट नहीं दिया था क्योंकि लालू, अपनी बेटी मीसा को पाटलिपुत्र से टिकट देकर चुनावी मैदान में उतार दिये। इसके बाद रामकृपाल बागी हो गये और भारतीय जनता पार्टी से जुड़ गये। भाजपा ने भी तुरंत उसी सीट से उनको टिकट देकर मीसा भारती के खि’लाफ चुनावी मैदान में उतार दिया। जनता ने समर्थन देकर लगातार दो बार उन्हें अपना सांसद चुन चुकी है।2019 में राम कृपाल ने मीसा को 39321 मतों से हरा दिया है। राम कृपाल को जहां 509557 वोट मिला ,वहीं मीसा को 470236 वोट मिला।