झारखंड BJP को लगा झटका, वरिष्ठ नेता रामटहल चौधरी ने दिया पार्टी से इस्तीफा

PATNA: चुनावी मौसम ने नेताओं के रूठने और मनाने की चर्चा मीडिया में सुर्खियां बटोरती रहती हैं। टिकट न मिलने से नाराज या मनपसंद सीट न मिलने के चलते अधिकतर नेता अपनी पार्टी से बगावत भी कर देते हैं। इतना ही नहीं नेता मौके का फायदा उठाते हुए अपना पाला बदलने में भी देर नहीं करते हैं। अब झारखंड से बीजेपी के वरिष्ठ नेता रामटहल चौधरी के पार्टी से इस्तीफा देने की खबर मिली है।

बताया जा रहा है कि टिकट न मिलने के चलते रामटहल चौधरी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपनी नाराजगी जताते हुए पार्टी की प्राथमिक सदस्य्ता से अपना इस्तीफ़ा दे दिया। इसी के साथ ही उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में साफ़ कर दिया कि वह 16 अप्रैल को रांची लोकसभा सीट से अपना नामांकन दाखिल करेंगे। प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान रामटहल चौधरी राज्य सरकार पर जमकर बरसे और कहा कि पार्टी में सच बोलने की सजा मिलती है। टिकट न मिलने का दुःख जाहिर करते हुए उन्होंने कहा कि टिकट काटने से पहले पार्टी ने पूछा तक नहीं।

Quaint Media

टिकट कटने को लेकर रामटहल ने कहा की पार्टी ने उनके साथ अच्छा नहीं किया है। पिछले लोकसभा चुनाव में मैंने पीएम नरेंद्र मोदी के भरोसे पर चुनाव नहीं जीता था। इसी के साथ ही राज्य की बीजेपी की इकाई पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि अब एसी के बंद कमरे में बैठकर फैसले लिए जा रहे हैं। राज्य से लेकर केंद्र तक तानाशाही चल रही है। बता दें कि भाजपा ने वर्तमान सांसद रामटहल चौधरी का टिकट काटकर इस बार चुनाव के लिए खादी बोर्ड के अध्यक्ष संजय सेठ को रांची से अपना उम्मीदवार बनाया है। इसी को लेकर रामटहल चौधरी नाराज चल रहे थे और अंत में उन्होंने निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ने का फैसला कर लिया।