रामविलास और चिराग पासवान हुए चमकी बुखार के शिकार, सीएम नीतीश करायें चेकअप-दानिश रिजवान

PATNA: हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा के प्रवक्ता दानिश रिजवान ने कहा कि बिहार में गरीबों और दलितों के बच्चे चमकी बुखार के कारण तिल-तिलकर म’र रहे हैं। ऐसी स्थिति में लोक जन शक्ति पार्टी के नेता रामविलास पासवान और उनके बेटे चिराग पासवान गायब हो चुके हैं। ऐसा लगता है कि रामविलास पासवान और चिराग पासवानको इंसेफलाइटिस हो गया है।

इतना ही नहीं, उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से अपील की है कि वे रामविलास पासवान और चिराग पासवान का मेडिकल चेकअप कराये ताकि यह पता चल सके कि कहीं उन्हें भी चमकी बुखार तो नहीं हो गया है। आपको बता दें कि रामविलास खुद को दलितों और पिछड़ो का नेता बताते हैं, इसलिए रिजवान ने यह सवाल उठाया है कि दलितों और गरीबों की मौ’त पर, ये दोनों नेता चुप क्यों हैं? दानिश रिजवान के बयान आने के बाद राधिका खेड़ा ने एक ट्वीट करके बताया कि मुजफ्फरपुर में बच्चे म’र रहे हैं और रामविलास पासवान के चिराग गोवा में मजे ले रहे हैं।

Chirag paswan in Goa
रामविलास के दामाद और चिराग के जीजा अनिल ने भी दोनों पर कसा तंज

रामविलास पासवान और चिराग पासवान पर उनके जीजा और राजद नेता Anil Sadhu ने कटाक्ष करते हुए कहा कि इनलोगों की जमीर म’र गयी है। एक तरफ मुजफ्फरपुर में बच्चे चमकी बुखार से म’र रहे हैं। वही दूसरी तरफ चिराग पासवान गोवा में मजे ले रहे हैं। इन्हें गोवा के बजाय मुजफ्फरपुर आना चाहिए था क्योंकि वे बिहार से सांसद हैं।

आपको बता दें कि अबतक मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से लगभग 150 बच्चों की मौ’त हो चुकी है। इस बीमारी के बारे में अभी तक वास्तविक कारणों का पता नहीं चल पाया है। कोई कहता है कि यह बीमारी लीची खाने से फैल रही है तो कोई कहता है कुपोषण के  कारण। यही कारण है कि लगातार रिसर्च सेंटर बनाने की मांग उठ रही है। सरकार वादा करके भूल भी जाती है। जब फिर से सैकड़ो बच्चों की मौ’त होती है तो वही वादा एकबार फिर से दोहरा देती है।