चिदंबरम के बयान पर गरमाई सियासत, रविशंकर प्रसाद ने कहा- उनका बयान लोगों को भड़काने वाला

PATNA: कोंग्रेसी नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम द्वारा आर्टिकल 370 पर दिए गए बयान को लेकर राजनीतिक माहौल गरमा गया है। सत्ता पक्ष के नेता चिदंबरम पर जोरदार हमला बोल रहे हैं। सोमवार को पटना पहुंचे केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने भी चिदंबरम पर निशाना साधा।

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि पी चिदंबरम का बयान गैर-जिम्मेदाराना और भड़काऊ है। मुझे उनसे ऐसी उम्मीद नहीं थी। मैं उनके बयान की निंदा करता हूँ। इसी के साथ ही रविशंकर प्रसाद ने अनुच्छेद-370 के हटाने के फैसले पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि मोदी सरकार का यह फैसला जम्मू- कश्मीर के और देश के हित में है। उन्होंने कहा कि अनुच्छेद-370 की आड़ में जम्मू-कश्मीर के मुस्लिमों के साथ बहुत नाइंसाफी हो रही थी।

LIVE BIHAR

वहीँ बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी भी चिदंबरम पर निशाना साधने से नहीं चूके और उन्होंने कहा दुर्भाग्य से पूर्व वित्त मंत्री चिदंबरम और दिग्विजय सिंह इस फैसले की आड़ में मुस्लिम समुदाय को मुद्दे (जम्मू कश्मीर) पर सरकार के खिलाफ भड़काने की कोशिश कर रहे हैं।

गिरिराज सिंह के निशाने पर आए चिदंबरम:

वहीँ चिदंबरम के बयान पर बीजेपी के कद्दावर नेता गिरिराज सिंह ने भी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए उनपर निशाना साधा है। गिरिराज सिंह ने कहा कि कांग्रेस पूरे देश में सिर्फ उंगलियों पर सिमट कर रह गई है। गिरिराज सिंह ने आगे कहा कि चिदंबरम और गुलाम नबी आजाद जैसे नेताओं के चेहरे बे’नकाब हो गए है। पी. चिदंबरम हमेशा तु’ष्टिकरण की भाषा बोलते हैं।

बता दें कि पी चिदंबरम ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने को हिंदू-मुसलमान से जोड़ कर कहा कि जम्मू-कश्मीर हिंदू बहुल राज्य होता तो भगवा पार्टी इस राज्य का विशेष दर्जा ‘नहीं छीनती। चिदंबरम ने आगे कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू और पूर्व गृह मंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल के बीच कभी भी संघर्ष की स्थिति नहीं थी।