जगन्नाथ मिश्र के नि’धन पर शिवानंद तिवारी ने विवादित बयान देकर नीतीश पर साधा निशाना

PATNA : राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र के नि’धन पर नीतीश कुमार की सरकार द्वारा घोषित किये गए राजकीय शोक पर सवाल उठाये हैं। उन्होंने कहा कि जगन्नाथ मिश्र चारा घो’टाले के आ’रोपी थे। नीतीश कुमार हमेशा कहते हैं कि वो भ्रष्टा’चार से समझौता नहीं करते हैं फिर उन्होंने स’जायाफ्ता व्यक्ति के नि’धन पर तीन दिवसीय शोक की घोषणा कैसे कर दी।

आपको बता दें कि जगन्नाथ मिश्र चारा घो’टाले में आ’रोपी बनाये गए थे। 30 सितंबर 2013 को चारा घोटाले में 44 अन्य लोगों के साथ उनको भी दो’षी ठहराया गया था। उन्‍हें 4 साल की जे’ल के साथ 200,000 रुपए का जुर्माना भी लगाया गया। इस मामले में उनको स्वास्थ्य कारणों से बे’ल मिल गया था। उनके जे’ल से बाहर आने के बाद कई तरह के सवाल भी उठे थे। जगन्नाथ मिश्र का कल दिल्ली में नि’धन हो गया था। वो तीन बार बिहार के मुख्यमंत्री भी रहे थे। इसीलिए उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए बिहार सरकार ने राज्य में राजकीय शोक की घोषणा की थी।

शिवानंद ने पूछा- क्या अब भ्रष्टा’चार असहनीय नहीं

शिवानंद तिवारी ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करके कहा कि नीतीश जी अक्सर कहा करते हैं कि भ्रष्टा’चार, अप’राध और सांप्रदा’यिकता मेरे लिए असहनीय है। लालू जी के भ्रष्टाचार की दुहाई देकर नीतीश कुमार महागठबंधन से अलग हो गए थे। जगन्नाथ मिश्र भी लालू यादव की तरह भ्रष्टाचार के आरोपी थे तो उनके निधन पर राजकीय शोक की घोषणा करके क्या अब नीतीश कुमार भ्रष्टाचार को महिमामंडित नहीं कर रहे है। राजद नेता शिवानंद तिवारी के इस बयान पर सत्‍ता पक्ष से अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है, लेकिन माना जा रहा है कि सियासत तेज जरूर हो सकती है।