मीसा की हार पर RJD ने उठाए सवाल, आयोग से की जांच की मांग

PATNA: बिहार में महागठबंधन को मिली हार को लेकर राजनीतिक गलियारों में हलचल तेज हो गई है। वहीँ पाटलिपुत्र लोकसभा सीट को लेकर आरजेडी द्वारा सवाल उठाए जा रहे हैं। पाटलिपुत्र लोकसभा सीट पर अंत तक चली लड़ाई में रामकृपाल यादव ने लालू यादव की बेटी Misa Bharti को मात दे दी।

आरजेडी द्वारा परिणाम को लेकर चुनाव आयोग से जांच की मांग की गई है। पाटलिपुत्र संसदीय सीट के परिणाम को लेकर आरजेडी नेता विजय प्रकाश ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मतगणना वाले दिन करीब 3 बजे तक मीसा भारती को 2 लाख 25 हजार से ज्यादा वोट मिल चुके थे। वहीँ बीजेपी उम्मीदवार रामकृपाल यादव को मीसा भारती से कम वोट ही मिले। उनको करीब 2 लाख 14 हजार से ज्यादा वोट मिल चुके थे। इस पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि तो फिर साढ़े तीन बजे मीसा भारती के वोट घटकर 2 लाख 21 हजार कैसे हो गए ?

MISA BHARTI

आरजेडी द्वारा उठाए गए सवाल पर बीजेपी नेता निखिल आनंद ने प्रतिक्रिया देते हुए तंज कसा है।आरजेडी नेता कभी ईवीएम को लेकर सवाल खड़े करते हैं तो कभी चुनाव परिणाम पर। वहीँ उन्होंने आगे कहा कि देश में रेंडम तरीके से चुनी जाने वाली ईवीएम में कोई गलती नहीं पाई गई।बता दें कि  बीजेपी उम्मीदवार रामकृपाल यादव ने मीसा भारती को बहुत कम मतों से मात दी। मीसा भारती को मात्र 39321 मतों से हार का सामना करना पड़ा। बीजेपी उम्मीदवार रामकृपाल यादव को इस बार 509557 मत मिले तो मीसा भारती को 39321 मत मिले।

महागठबंधन का हुआ सूपड़ा साफ़:

बता दें कि इस बार चुनाव में बिहार के बड़े बड़े नेताओं को हार का सामना करना पड़ा है। इस लिस्ट में शत्रुघ्न सिन्हा से लेकर अब्दुल बारी सिद्दीकी और मेसा भारती का नाम शामिल है। वहीँ जीतन राम मांझी, उपेंद्र कुशवाहा और शरद यादव जैसे नेता भी जीत हासिल नहीं कर पाए। बिहार में महागठबंधन को 40 लोकसभा में से मात्र 1 सीट पर जीत हासिल हुई। ये जीत किशनगंज लोकसभा सीट पर कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार को मिली। वहीँ 39 सीटों पर एनडीए गठबंधन ने जीत दर्ज की। जिसमें 17 सीटें बीजेपी, 16 सीटें जेडीयू और 6 सीटों पर लोजपा ने कब्जा जमाया।