सहरसा क्षेत्र में बच्चों की अज्ञात बीमारी से हो रही मौत, जाँच में भी नहीं पता चला मौत का कारण

Quaint Media

PATNA : बिहार के सहरसा के सोनबर्षाराज प्रखंड क्षेत्र के देहद पंचायत से एक अजीब घटना सामने आई है। यहाँ अज्ञात बीमारी से बच्चों की मौत से ग्रामीण लोगों में डर का माहौल बन गया है। मिली जानकारी के मुताबिक गांव के तीन दुधमुंहे बच्चों की मौत हो गई। जिसके पीछे की वजह का पता नहीं चला है। ग्रामीणों ने बताया कि गांव के वार्ड नंबर 7के निवासी पिंटू साह के करीब ढाई महीने के पुत्र, वार्ड नंबर सात के सुनील कुमार की ढाई महीने की पुत्री रिया और वार्ड नंबर 8 के पदमपुर निवासी गौतम तांती के एक महीने के पुत्र अंकित की मौत हो गई है।

Quaint Media

बच्चों की मौत पर जब परिजन से सवाल पूछा गया तो उन्होंने बताया कि प्रातः सुबह के समय बच्चे बैचेन होकर रोने लगते थे। जिसके बाद बच्चों को दूध पिलाकर फिर से सुला दिया जाता था, लेकिन बच्चे फिर से जग नहीं पाते। बच्चों के शरीर के कुछ हिस्सों जैसे होठ व पीठ पर काले निशान देखने को मिलते थे। इस घटना की जानकारी मिलने के बाद पीएचसी सोनवर्षा से एक आयुष चिकित्सक मो. मोईनुद्दीन और सहायक शिशु रंजन को देहद गांव भेजा गया, इसके बावजूद भी बच्चों की मौत के कारणों का पता नहीं चल पाया।

वहीँ प्रशासन द्वारा देहद की आंगनबाडी की कर्मी के साथ आशा कार्यकर्ता को गांव के दूसरे बच्चों पर निगरानी रखने का निर्देश दिया गया है। जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डा. कुमार विवेकानंद ने इस मामले पर मीडिया से बात कर बताया कि मौत के कारणों के संबंध में जांच के बाद ही कुछ बताया जा सकता है। वहीँ सिविल सर्जन डॉ. शैलेंद्र कुमार गुप्ता ने बताया कि इस घटना के सामने आने के तुरंत बाद पीएचसी से चिकित्सक को देहद गांव भेजा गया है। जरूरत पड़ने पर शिशु रोग विशेषज्ञ को भी भेजकर रोकथाम के पूरे उपाय किये जाएंगे।