झारखंड के चुनाव में शराबबंदी और आदिवासियों का हक दिलाना रहेगा चुनावी मुद्दा- जदयू नेता सालखन

PATNA: जदयू प्रदेश अध्यक्ष सालखन मुर्मू ने झारखंड में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव के लिए अपने चुनावी मुद्दों की घोषणा की है। उन्होंने बताया है कि इसबार के विधानसभा चुनाव में, झारखंड में शराब-बंदी, सीएनटी-एसपीटी ऐक्ट, आदिवासियों का हक दिलाना हमारा चुनावी मुद्दा रहेगा।

आपको बता दें कि ये वही सालखन मुर्मू हैं, जिन्होंने कुछ दिन पहले कहा था कि यहां 81 विधानसभा सीटों पर होने वाले चुनाव में जदयू बिना किसी गठबंधन के अकेले लड़ेगी और जीतकर सरकार भी बनायेगी। उन्होंने यह बयान जमशेदपुर में आयोजित कार्यकर्ता सम्मेलन दिया।

कुछ लोगों का मानना है कि लोकसभा और विधानसभा के चुनावों में काफी अंतर होता है। विधानसभा के चुनाव का निर्वाचन क्षेत्र, लोकसभा के निर्वाचन क्षेत्र की तुलना में छोटा होता है, इसलिए स्थानीय मुद्दे ज्यादा अहम हो जाते हैं। खासकर जात-पात, धर्म, समुदाय जैसे मुद्दे विधानसभा चुनाव को ज्यादा प्रभावित करते हैं। मुर्मू का यह बयान वैसे समय में आ रहा है, जब पूरे देश में भारतीय जनता पार्टी और जदयू को लेकर तरह-तरह की बातें चल रही है। आपको बता दें कि अभी ऐसा लग रहा है कि जदयू और भाजपा के बीच के गठबंधन में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। हालांकि नीतीश कुमार लगातार यह कह रहे हैं कि उनका एनडीए के साथ सबकुछ ठीक है। जदयू आगामी चुनाव भी एनडीए के गठबंधन में ही लड़ेगी।