अप’राधी और भ्रष्टा’चारी अगर पाताल-लोक में भी होगा तो बिहार सरकार खोज निकालेगी-संजय टाइगर

PATNA: भाजपा नेता संजय टाइगर ने कहा कि बिहार की सरकार कभी भी भ्रष्टा’चार से समझौता नहीं कर सकती है। अगर अप’राध और भ्रष्टा’चार करने वाले पाताल में भी होंगे तो बिहार सरकार उसे खोज निकालेगी। नीतीश सरकार पर भ्रष्टा’चार के आरोप लगाने वाले रालोसपा नेता उपेन्द्र कुशवाहा पर पलटवार करते हुए कहा कि अगर उनकी बातों में प्रमाणिकता है तो उसपर निश्चित रुप से कार्रवाही की जायेगी।

टाइगर ने कहा कि सीएम नीतीश कुमार के नेतृत्व में, बिहार में एनडीए की सरकार चल रही है। यह सरकार अपरा’ध और भ्र’ष्टाचार के मुद्दे पर जीरो टॉलरेंस की नीति पर कायम है। उन्होंने कहा कि कोई भी भ्र’ष्टाचार करके बच नहीं सकता है। अगर भ्रष्टा’चार की गंभीर शिका’यत आयेगी तो उसकी जांच होगी और आ’रोपियों पर सख्त से सख्त’ कार्र’वाही की जायेगी।

CM NITISH KUMAR AND UPENDRA KUSHWAHA
जानियें क्या है पूरा मामला-

कुशवाहा ने नीतीश सरकार पर वित्तीय घोटा’ला करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि ये मामला समाज कल्याण विभाग से जुड़ा है। समाज कल्याण विभाग ने 2018 में 34000 मोबाइल खरीदे थे, जिसके लिए कुल 31 करोड़ चार लाख 14 हजार रुपये का भुगतान किया गया था। कुशवाहा का आरोप है कि इस खरीद में सरकार ने बाजार मूल्य से 6 करोड़ 78 लाख रुपये से ज्यादा का भुगतान किया है।

कुशवाहा ने मीडिया को इस मामले से जुड़े कागजात मुहैया कराए हैं। साथ ही उनका दावा है कि आने वाले दिनों में वो और भी विभागों में हुए भ्रष्टा’चार का खुलासा करेंगे। इस विषय में कुशवाहा ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र भी लिखा है, साथ ही पूरे मामले की जांच की मांग की है। कुशवाहा ने बिहार सरकार को आगाह किया है कि अगर जांच नहीं की गई तो पार्टी आंदोलन पर उतरेगी। इतना ही नहीं, उन्होंने कहा है कि अपराध और भ्रष्टा’चार के मुद्दे पर भाजपा और जदयू पार्टी की जीरो टॉलरेंस की नीति कहां गयी?