ममता के समर्थन में आए शत्रुघ्न, कहा-2002 में गुजरात नहीं लगा राष्ट्रपति शासन तो बंगाल में क्यों

PATNA: पश्चिम बंगाल में Mamata Banerjee और BJP के बीच चल रहे विवाद में अब शत्रुघ्न सिन्हा भी कूद पड़े हैं। शत्रुघ्न सिंह ने ममता बनर्जी का समर्थन करते हुए कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है।

शत्रुघ्न सिन्हा ने अपने ट्वीट में ममता बनर्जी का समर्थन करते हुए लिखा है कि एक विनम्र सलाह है कि बंगाल को राष्ट्रपति शासन की आवश्यकता नहीं है। ऐसे कई राज्य रहे हैं (यहां तक कि हमारे स्वयं के गुजरात 2002 के बाद) जहां बहुत खराब स्थितियां रही हैं लेकिन वहां राष्ट्रपति शासन नहीं लगाया गया। बंगाल को शांति, समृद्धि, विकास और सामाजिक सौहार्द्र की जरूरत है। इसलिए राष्ट्रपति शासन नहीं लगाना चाहिए।

इसी के साथ ही उन्होंने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा है कि बंगाल की सरकार बंगाल के लोगों के द्वारा, बंगाल के लोगों के लिए होनी चाहिए। शत्रुघ्न सिन्हा ने अपने ट्वीट में गुजरता का जिक्र कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। शत्रुघ्न सिन्हा की तरह ही सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी ने भी पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने का विरोध किया है। सीताराम येचुरी ने कहा है कि लेफ्ट किसी भी राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने की बात नहीं करती है।

बता दें कि पश्चिम बंगाल में पिछले कुछ दिनों बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या का मामले सामने आया है। जिसके बाद वहां की राजनीति गरमा गई है। इन हत्याओं के बाद बीजेपी के पश्चिम बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने कहा है कि बंगाल में हालात अब बेकाबू हो गए हैं। ऐसे में हमारी पार्टी राष्ट्रपति शासन की मांग कर सकती है। बता दें कि बीजपी कार्यकर्ताओं की हत्या के बाद सोमवार को पार्टी ने काला दिवस मनाया था। वहीँ पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी ने प्रधानमंत्री मोदी और गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात भी की थी।