राष्ट्रीय स्तर पर विपक्षी नेतृत्व शून्य, नीतीश को विपक्ष का चेहरा बनना चाहिए – शिवानंद तिवारी

PATNA: बिहार की राजनीति में इन दिनों नेताओं की बयानबाजी ने हलचल तेज कर दी है। इस बार आरजेडी के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी के बयान को लेकर जेडीयू और आरजेडी के बीच गहमागमी बनी हुई है।

शिवानंद तिवारी ने अपने एक बयान में कहा कि जेडीयू ने बीजेपी के साथ मिलाकर एनडीए में शामिल होकर बहुत बड़ी गलती की है। इसी के साथ ही शिवानंद तिवारी ने आगे कहा कि इस समय केंद्र की राजनीति में कोई भी विश्वसनीय विपक्ष नहीं है। इसलिए नीतीश कुमार को राष्ट्रीय राजनीति में आना चाहिए।

SHIVANAND TIWAIR

इतना ही नहीं शिवानंद तिवारी ने आगे कहा कि नीतीश कुमार को सभी विपक्षी दलों को एक साथ लाना चाहिए और उन्हें एकजुट करना चाहिए। नीतीश कुमार की छवि अभी भी धर्मनिरपेक्ष बनी हुई है। उन्होंने आगे कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर विपक्षी नेतृत्व शून्य है। नीतीश कुमार को आगे आना चाहिए।

इसी के साथ ही शिवानंद तिवारी ने आगे कहा कि उन्होंने 35 वर्षों तक नीतीश कुमार को राजनीति में देखा है और मैं ये दावा कर सकता हूं कि नीतीश कुमार के पास देश का प्रधानमंत्री बनने की राजनीतिक हिम्मत और क्षमता है। नीतीश कुमार को NDA के खिलाफ लड़ाई लड़नी चाहिए और राष्ट्रीय स्तर पर विपक्ष का चेहरा बनना चाहिए। शिवानंद तिवारी ने कुछ दिनों पहले राष्ट्रीय जनता दल के सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव से जेल जाकर मुलाकात की थी। जिसके बाद उनका यह बयान सामने आया है।

RSS और BJP ने बार-बार स्पष्ट किया है कि आरक्षण कभी समाप्त नहीं होगा- सुशील मोदी