राजद में कलह : अब सीताराम यादव हुए बागी, सीतामढ़ी से निर्दलीय लड़ने का किया ऐलान

PATNA : टिकट बंटवारे के बाद राजद में कलह बढती जा रही है। पहले दरभंगा से टिकट न मिलने के कारण पूर्व सांसद फातमी बागी हुए फिर जहानाबाद से अपने पसंद के उम्मीदवार को टिकट न देने के कारण तेज प्रताप यादव बागी हुए और अब सीतामढ़ी से टिकट न मिलने के कारण पूर्व सांसद सीताराम यादव (Sitaram Yadav) ने बगावत कर दिया है। सीताराम यादव ने निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान कर के राजद की मुश्किलें बढ़ा दी।  पार्टी से सीतामढ़ी से अर्जुन राय को टिकट दिया है। सीतामढ़ी के राजद कार्यकर्ताओं ने सीताराम यादव को टिकट देने के लिए लालू-राबड़ी आवास पर प्रदर्शन किया। सीताराम यादव ने पार्टी को 8 अप्रैल तक का वक़्त दिया है, अगर पार्टी ने अर्जुन राय की उम्मीदवारी पर पुनर्विचार नहीं किया तो वो निर्दलीय चुनाव मैदान में उतरेंगे। सीताराम यादव 2 बार सीतामढ़ी से सांसद रह चुके हैं। 

उधर दरभंगा के पूर्व सांसद फातमी ने 3 अप्रैल को अपने समर्थकों की बैठक बुलाई है। उस बैठक के बाद वो निर्दलीय उतरने के सम्बन्ध में कोई निर्णय लेंगे। फातमी 4 बार दरभंगा से सांसद रह चुके हैं और 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा उम्मीदवार कीर्ति आज़ाद के हाथों करीब 35,000 वोटों से हार गए थे। दरभंगा से इस बार पार्टी ने अब्दुल बारी सिद्धीकी को मैदान में उतारा है।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives Live Bihar, Live Bihar, Live India

बागी हुए तेजप्रताप : वहीँ तेज प्रताप के बागी सुर बरक़रार हैं। खबर है कि राबड़ी देवी और लालू यादव के समझाने पर भी वो मानने को तैयार नहीं हुए हैं। जहानाबाद से सुरेन्द्र यादव को टिकट मिला है। तेजस्वी  ने खुद उनके नाम की घोषणा की थी। नाराज हो कर तेजप्रताप ने चंद्रप्रकाश को निर्दलीय जहानाबाद से नामांकन दाखिल करने को बोल दिया। साथ ही तेजप्रताप ने ये भी कहा कि वो चंद्रप्रकाश का सपोर्ट करेंगे और उनके नॉमिनेशन में भी खुद जायेंगे। शनिवार को तेजस्वी यादव के तय किये गए उम्मीदवार सुरेन्द्र यादव के खिलाफ तेजप्रताप समर्थकों ने जम कर नारेबाजी की और तेजस्वी को तानाशाह बताया। कार्यकर्ताओं ने बताया कि तेजस्वी किसी की बात नहीं सुनते लेकिन तेजप्रताप के दरवाजे उनकी बात सुनने के लिए खुलते हैं इसलिए हम तेजप्रताप के साथ हैं।